पोलैंड में छा गई ‘पीकू’

वॉरसॉ | मनोरंजन डेस्क: भारत के बाद पोलैंड में भी छा गई है हिन्दी फिल्म ‘पीकू’. ‘पीकू’ एक आम भारतीय कामकाजी लड़की की कहानी है जिसके अपने प्यार के समान ही परिवार तथा पिता महत्वपूर्ण है. ‘पीकू’ की इसी अदा ने पोलैंड वासियों का मन मोह लिया है. ‘पीकू’ की कहानी दीपिका पादुकोण, अमिताभ बच्चन और इरफान खान के इर्दगिर्द घूमती है. ‘पीकू’ बड़े शहर की सिंपल, खुले और मजबूत विचारों वाली कामकाजी लड़की है. वह पेशे से आर्किटेक्ट है और दिल्ली में अपनी शर्तों पर रहती है, परंतु फिर भी वह जमीन से जुड़ी हुई है. उसके लिए परिवार सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण है. वह अपने पिता की देखभाल में कोई कमी नही रखती. ‘पीकू’ जिम्मेदारियों से भागती नहीं है. दुनियाभर में सफलता के झंडे गाड़ रही शूजित सरकार निर्देशित ‘पीकू’ ने अब पोलैंड में भी सफलता पा ली है. पोलैंड की राजधानी वॉरसॉ में 20 मई को फिल्म निर्माण कंपनी यशराज फिल्म्स एवं अनुज शर्मा की ‘इमेजेस एंड वर्ल्ड्स’ कंपनी की ओर से रिलीज हुई इस फिल्म को जबर्दस्त सराहना मिली है. ‘पीकू’ भारत में 8 मई को रिलीज हुई थी.

यह जल्द पोलैंड के क्राको, लॉड्ज, लबलिन, व्रोकला, पॉज्नान जैसे बड़े शहरों में दिखाई जाएगी.


इमेजेस एंड वर्ल्ड्स कंपनी के अध्यक्ष अनुज शर्मा ने कहा, “पोलैंड न केवल बॉलीवुड मसाला फिल्मों का एक बाजार है, बल्कि पोलैंड के सिनेप्रेमी ‘पीकू’ जैसी संजीदा एवं साफ-सुथरी फिल्में देखने के भी इच्छुक हैं.”

इंडिया-पोलैंड कल्चरल कमेटी के अध्यक्ष जानुस्ज कर्जीजोव्स्की ने कहा, “पीकू’ ने पोलैंड में एक नया अध्याय शुरू किया है. हम पोलैंड में इसी तरह की रचनात्मक फिल्में देखना चाहते हैं. यह एक जबर्दस्त एवं गुदगुदाने वाली हास्य फिल्म है.”

कर्जीजोव्स्की वॉरसॉ में 200 से ज्यादा बॉलीवुड फिल्में देख चुके हैं. उन्होंने उर्दू कवि सुरेंद्र जाहिद के साथ बॉलीवुड गीतों का पोलैंड की भाषा में अनुवाद भी किया है.

भारत में विशेष रुचि रखने वाले एवं थाईलैंड, पुर्तगाल व ब्राजील में पोलैंड के राजदूत रह चुके बोगुस्लाव जकरेव्स्की ने ‘पीकू’ की समीक्षा करते हुए कहा, “अभिनेत्री दीपिका पादुकोण ने मुझे बहुत प्रभावित किया. मैं उनसे बहुत जुड़ाव महसूस कर रहा हूं, क्योंकि उन्होंने मेरे अंदर एक पिता के प्यार को जगाया. मैं उन्हें गोद लेने जैसा महसूस कर रहा हूं. मुझे यकीन है कि दुनिया के कई संजीदा लोगों ने उनके लिए ऐसा ही महसूस किया होगा.”

इंस्टीट्यूट ऑफ मेडीटेरेनियन एंड ओरिएंटल कल्चर्स के व्याख्याता मैरियुस्ज क्रस्निव्स्की ने कहा, “यह कई बारीकियों वाली एक सादी सी मानवीय कहानी है. अमिताभ एकदम लाजवाब हैं. वह इन दिनों अपनी पिछली एक्शन फिल्मों की तुलना में ऑफबीट फिल्मों में बतौर अभिनेता ज्यादा बेहतर हैं. उनमें किसी भी विश्वस्तरीय अभिनेता से तुलना की संभावना है.”

Journey Song | Piku

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!