मोदी ने श्रम सुधार के कदम उठाए

नई दिल्ली | एजेंसी: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को श्रम सुधार के कुछ महत्वपूर्ण कदम उठाए. इन कदमों का प्रमुख आधार भरोसा है और इनके माध्यम से देश में कारोबार करना आसान बनाने की कोशिश की गई है. मोदी ने कहा कि ये देश में काम की संस्कृति बदलने के लिए महत्वपूर्ण साबित होंगे. प्रधानमंत्री ने दिल्ली स्थित विज्ञान भवन में एक कार्यक्रम के दौरान श्रम सुविधा पोर्टल, श्रम जांच योजना और कर्मचारी भविष्य निधि की सार्वभौमिक खाता संख्या के जरिए सामाजिक सुरक्षा की पोर्टेबिलिटी की शुरुआत की.

मोदी ने कहा, “किस तरह कार्य संस्कृति को बदलेंगे? ये प्रयास बेहतरीन उदाहरण हैं. यही सीमित सरकार अधिकतम कल्याण है.”


प्रधानमंत्री ने कहा कि ई-गवर्नेस सरल शासन है. यह पारदर्शिता के प्रति विश्वास पैदा करता है.

इंस्पेक्टर राज के मुद्दे पर उन्होंने कहा कि अब एक कंप्यूटर यह तय करेगा कि अगले दिन निरीक्षक किसी जगह का निरीक्षण करेंगे. उन्होंने साथ ही कहा कि श्रम बल के बारे में कंपनियों को पहले 16 फॉर्म भरने पड़ते थे. अब सिर्फ एक ही फॉर्म भरने होंगे.

यह फार्म ऑनलाइन भरा जा सकेगा.

उन्होंने नेशनल ब्रांड एंबेसडर फॉर वोकेशनल ट्रेनिंग पर एक पुस्तिका और ऑल इंडिया स्किल कंपीटिशंस की एक स्मारिका भी जारी की.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!