ओबामा की हत्या की साजिश

वाशिंगटन: अमरीका के राष्ट्रपति बराक ओबामा को भेजे गये एक पत्र में जहरीले रायसिन के मिलने के बाद से ओबामा की सुरक्षा व्यवस्था और कड़ी कर दी गई है. सुरक्षा प्रवक्ता ने बताया कि ओबामा के अलावा एक सीनेटर रोजर विकर को भी ऐसा ही पत्र मिला है. दोनों ही चिट्ठियों को अतिरिक्त जांच के लिये प्रयोगशाला में भेज दिया गया है.

बुधवार को अमरीकी राष्ट्रपति के डाक में एक संदिग्ध पत्र मिला. इस पत्र में रासायनिक लेप लगा हुआ था, जो आरंभिक परीक्षण में रायसिन बताया गया है. एक पौधे के बीज से बने इस जहर से किसी की भी जान जा सकती है.


इससे पहले भी कई अमरीकी सांसदों की चिट्ठियों में एंथ्रेक्स वायरस भेजे गये थे. इसके बाद से ही ‘सीक्रेट सर्विस व्हाइट हाउस मेल स्क्रीनिंग फैसिलिटी’ शुरु की गई, जहां राष्ट्रपति समेत तमाम दूसरे लोगों की चिट्ठियों की रासायनिक जांच की जाती है. ओबामा की चिट्ठी का राज भी इसी से खुला. इस पत्र के मिलने से बाद ही हड़कंप मच गया और रासायनिक हमले के मद्देनजर व्हाइट हाउस के उस हिस्से को खाली करा लिया गया, जहां यह पत्र मिला था.

हालांकि सुरक्षा विशेषज्ञों का कहना है कि राष्ट्रपति तक सीधे कोई डाक या उपहार नहीं पहुंचता. इसलिये उनकी जान को किसी भी तरह के खतरे की आशंका नहीं है लेकिन अगर कोई भयावह रासायनिक या वायरस हमला हुआ तो उस स्थिति में मुश्किल हो सकती है.

इधर इस मामले में एफबीआई के विशेष एजेंटों ने पॉल केविन कुर्टिस नामक एक शख्स को गिरफ्तार किया है. माना जा रहा है कि इसी व्यक्ति ने अमरीकी डाक विभाग के जरिए उन चिट्ठियों को भेजा था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!