पुलिसिया पिटाई से इंजीनियर की मौत

अंबिकापुर | संवाददाता: सूरजपूर के भैयाथान के ग्राम पकनी के रहने वाले रेलवे में प्रशिक्षु अभियंता के रूप में कार्यरत एक आदिवासी युवक की पुलिस द्वारा पिटाई करने से मौत का मामला सामने आया है. ƒघटना को गंभीरता से लेते हुए सूरजपुर एसीपी एस एस सूरी ने भैयाथान के थाना प्रभारी को निलम्बित कर जांच के आदेश दिये है.

मिली जानकारी के अनुसार मृतक प्रशिक्षु अभियंता भारतीय रेल्वे झांसी में पदस्थ था, चुनाव के दौरान वह अपने गृह ग्राम पकनी थाना भैयाथान आया हुआ था, रेल्वे में प्रशिक्षु इंजीनियर नरनारायण सिंह आत्मज रघुनाथ सिहं उम्र 35 वर्ष गत 11 नवम्बर को भैयाथान कुछ दवाईयां लेने गया था.


वापस लौटते समय वक्त गांव के ही दो युवक राजेश्वर व बलवीर उससे लिफ्ट मांगी. चुनाव आचार संहिता के कारण बस इत्यादि न होने पर नरनारायण ने दोनो को अपनी मोटर साइकिल क्रमांक सी-6 15 सी आई 3399 पर लिफ्ट दे दी.

इस दौरान मोहली के पास सड़क पर खड़े दो आरक्षको ने उसे रूकवा लिया. तीन सवारी के नाम व आचार संहिता का हवाला देते हुए उससे एक आरक्षक ने गाड़ी की चाबी छिन ली तथा उसी गाड़ी से उसे पिछे बैठाकर ले जाने लगे. इसके अलावा दोनों ने उससे दो सौ रूपये की मांग भी की नहीं देने पर जमकर पीटा.

इसके बाद इन आरक्षकों ने ब्रेकर पर वाहन का जोरदार झटके से मृतक के गिरने की बात कह कर लहुलुहान अवस्था में छोड़ दिया. मृतक के साथ जा रहे दोनो युवको ने इसकी जानकारी परिजनों को दी. ƒ

घायल अवस्था में नर नाराय‡ा को अम्बिकापुर जिला अस्पताल में लाया गया. जहां से डॉक्टरों ने उसे रायपुर रेफर कर दिया. करीब पाँच दिनों बाद उसे परिजन ƒघर लेकर आये डॉक्टरों के अनुसार उसके सिर व चेहरे के अंदरूनी हिस्सों ने रक्त जम गया था. उसे पुन: इलाज हेतु रायपुर के डॉक्टरों की सलाह अनुसार पुन: अम्बिकापुर जिला चिकिˆसालय जांच हेतु ले गए थे. 21 नवम्बर को इलाज के दौरान ही उसने अंतिम सांसे ली.

प्रˆयक्षदर्शियों राजेश्वर व बलवीर ने कहा कि पुलिस वालों ने नर नारायण को इस लिये बहुत पीटा था क्योंकि भैयाथान में उसने गाड़ी नहीं रोकी थी तथा उसे पीछा कर पकड़ा गया तथा भैयाथान वापस ले जाकर मारपीट की गई.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!