पुलिस यूनियन बनाने अभियान तेज़

अंबिकापुर | संवाददाता: छत्तीसगढ़ में पुलिसकर्मियों के यूनियन गठन की बैठक पुलिस महकमे में चर्चा का कारण बना हुआ है. पुलिसकर्मियों के यूनियन बनाये जाने के मुद्दे पर बर्खास्त आरक्षक राकेश कुमार यादव की अंबिकापुर में बैठक के बाद हर पुलिसकर्मी एक दूसरे से जानना चाह रहा है कि उस बैठक में कौन-कौन गया था.

गौरतलब है कि राकेश कुमार यादव लंबे समय से राज्य में पुलिस यूनियन के गठन की पहल कर रहे हैं. उनका तर्क है कि जब पुलिस अफसरों और दूसरे कर्मचारियों के यूनियन हैं तो भला सिपाहियों का यूनियन क्यों नहीं होना चाहिये. इसी मांग के चक्कर में वे बर्खास्त भी हो चुके हैं.

अब राकेश यादव सिपाहियों के यूनियन गठन की प्रक्रिया के लिये राज्य भर में घूम रहे हैं. राकेश का कहना है कि सिपाहियों के साथ भेदभाव हो रहा है औऱ उनका भत्ता भी कम है. इसी तरह उन्हें घरों की ड्यूटी में काम लिया जा रहा है. जो जवान माओवाद प्रभावित इलाकों में कई साल गुजार चुके हैं, उन्हें फिर से माओवाद प्रभावित इलाकों में भेजे जा रहे हैं.

राकेश यादव की इस बैठक में बड़ी संख्या में पुलिसकर्मी पहुंचे लेकिन अधिकांश पुलिसकर्मी इस बात से बचते रहे कि कोई उन्हें देख न ले.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *