मंदिर महत्वपूर्ण, भारतीय भारत में रहें

नई दिल्ली | समाचार डेस्क: राजनाथ सिंह ने कहा राम मंदिर और संविधान का अनुच्छेद 370 केंद्र सरकार के लिए महत्वपूर्ण हैं. उन्होंने कहा कि सरकार ने पिछले साल आम चुनाव से पहले जो भी वादे किए थे उनसे पीछे नहीं हटेगी. मोदी सरकार के एक साल के कार्यकाल का लेखा-जोखा देने के बाद पत्रकारों के वार्ता में केंद्रीय गृहमंत्री ने कहा सरकार को अपने वादों के बारे में पता है और चीजें सही दिशा में आगे बढ़ रही हैं.

राजनाथ सिंह से जब पूछा गया कि मोदी सरकार राम मंदिर और जम्मू कश्मीर से संबंधित संविधान के अनुच्छेद के लिए कुछ कर भी रही है, तो उन्होंने कहा, “सभी मुद्दे महत्वपूर्ण हैं.”


सरकार द्वारा इन मुद्दों को ठंडे बस्ते में डालने की बात को केंद्रीय मंत्री ने नकार दिया.

उन्होंने कहा, “हम विकास में व्यस्त हैं. सभी मुद्दे जरूरी है.” उन्होंने कहा कि चूंकि राम मंदिर का मुद्दा अदालत में है सभी को अदालत के फैसले का इंतजार है या दोनों समुदाय के लोग सौहर्दपूर्ण ढंग से समस्या को हल कर सकते हैं.”

उन्होंने यह भी कहा कि आंध्र प्रदेश को विशेष पैकेज की मांग पर विचार किया जा रहा है.

भारत में कार्यरत अंतर्राष्ट्रीय गैर सरकारी संगठनों से संबंधित सवालों के जवाब में गृहमंत्री ने कहा कि यह कार्रवाई देश के कानूनों के मापदंडों के हिसाब से की गई है.

राजनाथ सिंह से जब कहा गया कि सरकार ने जिन गैर सरकारी संगठनों पर कार्रवाई की है वे सभी इसाई धर्म के लोगों द्वारा चलाए जा रहे हैं और ऐसा प्रतीत होता है कि सरकार उन्हें निशाना बना रही है. इस पर उन्होंने कहा कि यह कार्रवाई कानून के अंतर्गत की गई है.

दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा देने की बात पर केंद्रीय मंत्री ने कहा कि अभी इस मुद्दे पर चर्चा नहीं की जा रही है.

राजनाथ सिंह ने अल्पसंख्यक मामलों के केंद्रीय राज्यमंत्री मुख्तार अब्बास नकवी के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि भारतीयों को भारत में ही रहना चाहिए. मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा था कि ‘जो लोग गोमांस खाना चाहते हैं उन्हें पाकिस्तान चले जाना चाहिए.’ मोदी सरकार के एक साल के कार्यकाल का लेखा-जोखा देने के दौरान उनके साथ केंद्रीय गृह राज्यमंत्री किरण रिरिजू भी मौजूद थे.

सरकार की उपलब्धियां बताने के बाद पत्रकारों से वार्ता में केंद्रीय मंत्री से जब एक पत्रकार ने पूछा कि क्या गृहराज्य मंत्री किरण रिरिजू को नकवी के पाकिस्तान वाले बयान से समस्या है, तो उन्होंने कहा, “नहीं कोई समस्या नहीं है. सभी भारतीयों को भारत में ही रहना चाहिए.”

रिरिजू ने हालांकि इस दौरान कुछ नहीं कहा और मुस्कुराते रहे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!