रमन सिंह के दामाद ने छोड़ी सरकारी नौकरी

रायपुर । संवाददाता: छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह के दामाद डॉ. पुनीत गुप्ता ने इस्तीफा दे दिया है. पं. जवाहरलाल नेहरू मेमोरियल मेडिकल कॉलेज की डीन डॉ. आभा सिंह ने इस्तीफे की पुष्टि की है. पुनीत गुप्ता ने सोमवार को ही अग्रिम जमानत की याचिका भी लगाई है.

डॉ. पुनीत गुप्ता को पिछले पखवाड़े ही पं. जवाहरलाल नेहरू मेमोरियल मेडिकल कॉलेज में विशेष कर्तव्यस्थ अधिकारी बनाया गया था. लेकिन एक दिन पहले ही उनके विरूद्ध अंतागढ़ टेप कांड को लेकर कांग्रेस ने एफआईआर दर्ज करवाई गई है.


डॉ. पुनीत गुप्ता को 21 जनवरी को करोड़ों रुपये की लागत से बनवाये गये डीकेएस सुपरस्पेशलिटी हॉस्पिटल रायपुर के अधीक्षक पद से हटा दिया गया था. 22 जनवरी को उन्होंने मेडिकल कॉलेज में जॉइनिंग दी थी लेकिन उसके बाद से सात दिन के लिये अवकाश पर चले गये थे.

इसके बाद पुनीत गुप्ता सोमवार को पं. जवाहरलाल नेहरू मेमोरियल मेडिकल कॉलेज की आवक-जावक शाखा में पहुंचे और एक माह का वेतन जमा कर दिया. इसके बाद उन्होंने इस्तीफा दे दिया.

एफआईआर

पुलिस ने रविवार को पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी, उनके बेटे अमित जोगी, पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के दामाद डॉ. पुनीत गुप्ता और अंतागढ़ के पूर्व कांग्रेस प्रत्याशी मंतूराम पवार के खिलाफ जुर्म कायम किया गया था.

पंडरी थाना में भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की सदस्य एवं प्रवक्ता किरणमयी नायक की रिपोर्ट के आधार पर पंडरी पुलिस ने धारा 171 ई, 171 एफ, 406, 420, 120, धारा 9, 13 भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया.

आरोप है कि कांग्रेस से प्रत्याशी रहते हुए मंतूराम पवार ने बी फार्म लेकर पार्टी बदली. विश्वास में लेकर घात किया. इस एफआईआर में आरोप लगाया गया कि कांग्रेसी प्रत्याशी रहते हुए मंतूराम ने पार्टी की सामग्री को अवैधानिक तरीके से दुरुपयोग करके संपत्ति गबन की.

इसी तरह धारा 120 बी के तहत आरोप लगाया गया कि कांग्रेस पार्टी को नुकसान पहुंचाने के लिए पूर्व सीएम अजीत जोगी, पूर्व मंत्री राजेश मूणत, विधायक अमित जोगी और डॉ. पुनीत गुप्ता संग साजिश रची.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!