सिंधु को खेल तराशने की जरूरत: टिने बायून

कोपनहेगन | एजेंसी: डेनमार्क की महान महिला बैडमिंटन खिलाड़ी टिने बायून का कहना है कि बीते सप्ताह चीन में आयोजित विश्व चैम्पिनयनशिप में अच्छा प्रदर्शन करते हुए कांस्य पदक जीतने वाली भारत की युवा खिलाड़ी पीवी सिंधु अभी सीखने की प्रक्रिया में हैं.

इस साल जनवरी में मलेशिया ओपन सुपर सीरीज में सिंधु के साथ हुई एकमात्र भिड़ंत में जीत हासिल करने वाली बायून मानती हैं कि सिंधु को अभी अपने खेल को तराशने की जरूरत है. टेनिस से संन्यास से चुकीं बायून के मुताबिक विश्व वरीयता में शीर्ष-10 में स्थान बनाने के बावजूद सिंधु को काफी मेहनत करने की जरूरत है.


विश्व की पूर्व सर्वोच्च वरीय महिला स्टार बायून ने बातचीत में कहा, “सायना और सिंधु मेरी तरह आक्रामक खिलाड़ी हैं. सिंधु की लम्बाई उन्हें आक्रमण करने में सहायता करती है लेकिन सायना कुल मिलाकर शानदार खिलाड़ी हैं. यह नहीं भूलना चाहिए कि सिंधु सिर्फ 18 साल की हैं और अभी सीख ही रही हैं.”

बायून बोलीं, “सिंधु जब यदा-कदा अंक गंवाती हैं तो रक्षात्मक हो जाती हैं. अभी उनके पास अपनी गलतियों को सुधारने के लिए काफी वक्त है. दूसरी ओर, सायना एक परिपक्व खिलाड़ी हैं. वह कोर्ट पर जब भी उतरती हैं, 100 फीसदी प्रदर्शन करती हैं. यही कारण है कि वह लम्बे समय से शीर्ष-5 में बनी हुई हैं. यह एक शानदार उपलब्धि है.”

यह पूछने पर कि सायना जैसी परिपक्वता हासिल करने में सिंधु को कितना वक्त लगेगा, तीन बार ऑल इंग्लैंड खिताब जीत चुकीं बायून ने कहा, “सिंधु को आराम नहीं करना चाहिए. आने वाले वक्त के साथ प्रतिद्वंद्वी उनके खेल को पढ़ना शुरू कर देंगे और इसके बाद उनके लिए मुश्किलें खड़ी हो जाएंगी. ऐसे में उन्हें नए हथियार और तरीके खोजने होंगे. सिंधु की ताकत उनकी शक्ति है और यही कारण है कि वह चीनी खिलाड़ियों के खिलाफ अच्छा प्रदर्शन कर रही हैं.”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!