मोदी पर मजाक महंगा पड़ा

दोहा | समाचार डेस्क: फेसबुक पर भारत के प्रधानमंत्री मोदी का मजाक उड़ाना एक प्रवासी भारतीय शिक्षिका को महंगा पड़ गया. उक्त शिक्षिका ने फेसबुक पर प्रधानमंत्री मोदी को अपमानित करने वाले पोस्ट को शेयर ही किया था जिससे उन्हें अपनी नौकरी गंवानी पड़ी. नौकरी से हाथ गंवाने के बाद शिक्षिका ने अपना पक्ष रखते हुए कहा कि उनका इरादा प्रधानमंत्री मोदी का अपमान करना नहीं था. जाहिर है कि फेसबुक पर बिना सोचे-समझे किसी पोस्ट को शेयर करना इतना महंगा पड़ सकता है कि नौकरी गंवानी पड़ सकती है. खासकर जब मजाक में मोदी का अपमान किया गया हो. कतर की राजधानी में एक महिला शिक्षिका को भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के एक कार्टून को फेसबुक पर पोस्ट करने पर कथित तौर पर नौकरी छोड़ने के लिए विवश किया गया. समाचारपत्र ‘पेनिनसुला डेली’ की एक रिपोर्ट के मुताबिक, पिछले सप्ताह हुई इस घटना के कारण प्रवासी भारतीय समुदाय के एक धड़े के बीच एक बड़ा विवाद पैदा हो गया है, जिनका कहना है कि उस कार्टून से मोदी का अपमान हुआ है.

कार्टून में मोदी की तस्वीर पर काली व सफेद धारी वाले एक कुत्ते को पेशाब करते हुए दिखाया गया है.


महिला शिक्षिका जो खुद भारतीय हैं, ने कहा कि यह कार्टून सोशल मीडिया में लोगों द्वारा साझा किया जा रहा था और उन्होंने भी उसे अपने फेसबुक अकाउंट पर साझा किया.

एमईएस इंडियन स्कूल की शिक्षिका के हवाले से अखबार ने कहा, “न तो मैंने इसे बनाया है और न ही मोदी के अपमान के इरादे से पोस्ट किया.”

रिपोर्ट के मुताबिक, शिक्षिका को प्रारंभ में प्रबंधन द्वारा जांच के लिए तीन दिनों के लिए निलंबित किया गया. इस सप्ताह उसे इस्तीफा देने के लिए कहा गया और उन्होंने ऐसा ही किया.

उनके मित्रों ने समाचार पत्र से कहा कि वह स्कूल के इस कदम से काफी आहत हैं, क्योंकि भारत एक लोकतांत्रिक देश है जहां नागरिकों को अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता मिली हुई है. इस वाकये के बाद फेसबुक पर धड़ाधड़ शेयर करने वालों को सोचना पड़ेगा कि किसी आम आदमी तथा एक देश के प्रधानमंत्री के पद में क्या फर्क है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!