डीएसपी हत्याकांड में मंत्री का इस्तीफा

लखनऊ: प्रतापगढ़ में डीएसपी की हत्या के मामले में अखिलेश सरकार के मंत्री रघुराज प्रताप सिंह ऊर्फ राजा भैय्या ने इस्तीफा दे दिया है. पुलिस ने इस मामले में नामजद दो आरोपियों गुड्डू सिंह और राजीव सिंह को रविवार को ही गिरफ्तार कर लिया था. इसके बाद बाहुबली मंत्री राजा भैय्या के इस्तीफे की मांग शुरु हो गई थी. सोमवार को सपा के मुखिया मुलायम सिंह यादव ने मंत्री के इस्तीफे की मंजूरी की घोषणा की.

राजा भैय्या और उनके चार सहयोगियों के खिलाफ मृतक डीएसपी जिया उल हक की पत्नी परवीन आजाद ने रिपोर्ट दर्ज कराई थी. रिपोर्ट में उन्होंने आरोप लगाया था कि शनिवार की रात करीब आठ बजे ग्राम वलीपुर में दो गुटों के बीच फायरिंग की सूचना पाकर मेरे पति अपने दल बल के साथ जब घटनास्थल पर पहुंचे तो तो गुलशन यादव , हरी ओम , रोहित सिंह और गुड्डू सिंह आदि ने उन्हें पकड़ लिया और कहा कि तुम्हे ज़िंदा नही जाने देंगे. तब तक प्रधान और उनके भाई को गोली लग चुकी थी.

परवीन ने अपनी रपट में कहा कि गुलशन यादव, हरी ओम, रोहित सिंह और गुड्डू सिंह राजा भैया के गूर्गे है और राजा भैया के कहने पर मेरे पति को जान से मारने की नीयत से वहां पहुंचे थे. इन चारों ने कुछ अन्य लोगों के साथ मिल कर पहले मेरे पति और डीएसपी जिया उल हक को लाठी , डंडा और सरिया से मारा. जब वह गिर गए तो उनको तमंचे से गोली मार दी. परवीन ने आरोप लगाया है कि जब से मेरे पति कुंडा में सीओ पद पर तैनाती के लिए आए थ , तब से ही ये सारे लोग उनको डराते धमकाते थे, जिसकी चर्चा मेरे पति अकसर मुझसे किया करते थे.

अखिलेश सरकार में मंत्री रघुराज प्रताप सिंह उर्फ़ राजा भैया का निर्वाचन क्षेत्र कुंडा है और वे आपराधिक गतिविधियों के लिये कुख्यात हैं.सोमवार को विधानसभा की कार्यवाही शुरू होने से पहले राजा भैया मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से मिलने पहुंचे और उसके बाद कैबिनेट मंत्री के पद से इस्तीफा दे दिया.समाजवादी पार्टी के मुखिया मुलायम सिंह ने राजा भैया के इस्तीफे की घोषणा करते हुए कहा कि इसे मंजूर कर लिया गया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *