राहुल मदर टेरेसा के पक्ष में बोले: युकां

पणजी | समाचार डेस्क: युवक कांग्रेस ने राहुल गांधी से अपील की है कि मदर टेरेसा पर भागवत की टिप्पणी का जवाब दे. उल्लेखनीय है कि एक तरफ आरएसएस चीफ एक के बाद एक बयान दे रहें हैं वहीं, दूसरी ओर कांग्रेस के उपाध्यक्ष कथित आत्मचिंतन के लिये छुट्टी पर हैं. जाहिर है कि अभी भी कांग्रेस में राहुल गांधी को ही सोनिया के बाद नेता के तौर पर मान्यता मिली हुई है. अन्यथा युवक कांग्रेसी उनके नेतृत्व में वैचारिक लड़ाई लड़ने की अपील न करते. गोवा में युवक कांग्रेस ने पार्टी के उपाध्यक्ष राहुल गांधी से आग्रह किया है कि वे अपनी चुप्पी तोड़ें और मदर टेरेसा पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सर संघचालक मोहन भागवत की टिप्पणी के खिलाफ विरोध-प्रदर्शन पर अपनी आवाज बुलंद करें. यह पूछे जाने पर कि पार्टी अधिकारियों के मुताबिक छुट्टी पर चल रहे राहुल गांधी को भागवत द्वारा मदर टेरेसा पर की गई टिप्पणी पर अपनी चुप्पी तोड़नी चाहिए, प्रदेश युवा कांग्रेस अध्यक्ष जेवियर फिलहाओ ने कहा निश्चित तौर पर.

यह पूछे जाने पर कि क्या उन्हें अपनी छुट्टी तोड़कर भागवत की टिप्पणी के खिलाफ पार्टी का नेतृत्व करना चाहिए, उन्होंने कहा, “वह उपयुक्त समय पर ऐसा करेंगे. अभी तो वह उपलब्ध नहीं हैं.”

शहर में आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत का पुतला दहन करने के बाद फिलहाउओ ने संवाददाताओं से ये बातें कही.

उल्लेखनीय है कि राजस्थान के भरतपुर में सोमवार को भागवत ने एक समारोह के दौरान कहा, “मदर टेरेसा की सेवा अच्छी रही होगी. परंतु इसमें एक उद्देश्य हुआ करता था कि जिसकी सेवा की जा रही है उसका ईसाई धर्म में धर्मातरण किया जाए.”

इस बयान के बाद पूरे देश में राजनीतिक भूचाल आ गया है परन्तु कांग्रेस की ओर से इस मुद्दे का राजनीतिक लाभ नहीं उठाया जा सका है. वैसे भी लोग चाहते हैं कि नेता, उन्हें नेतृत्व दे, आत्मचिंतन बाद में करें.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *