राहुल ने मोदी को कहा- बहानेबाज

नई दिल्ली | समाचार डेस्क: राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री से बहाने न बना काम करने की सलाह दी है. इसी के साथ उन्होंने पीसीसी अध्यक्षों को कांग्रेस सरकार द्वारा लाई गई जल-लाभकारी योजनाओँ की राज्यों में रक्षा करने को कहा है. कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनकी सरकार पर विभिन्न मुद्दों पर बहाने बनाने का आरोप लगाया और कहा कि भाजपा उनकी पार्टी द्वारा बनाई गई सभी गरीब समर्थक नीतियों को खत्म कर रही है. राहुल ने कहा, “प्रधानमंत्री का काम देश चलाना है, बहाने बनाना नहीं. लेकिन पिछले 18 महीने से प्रधानमंत्री सिर्फ बहाने बना रहे हैं, देश नहीं चला रहे हैं, जिसके कारण किसान दुखी हैं, श्रमिक दुखी हैं.”

गांधी ने यहां कांग्रेस कार्यालय में प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्षों की एक बैठक को संबोधित करते हुए कहा, “देश ने नरेंद्र मोदी को बहानेबाजी के लिए नहीं चुना था. देश ने एक नेता चुना और नेता को बहाने नहीं बनाना चाहिए. नेता को वह काम करना चाहिए, जिसके लिए उसे चुना गया.”


राहुल ने बैठक के बाद कहा, “हम गरीब विरोधी, किसान विरोधी, श्रमिक विरोधी इस सरकार पर लगातार हमले कर रहे हैं. हम पीसीसी अध्यक्षों से इस बारे में जानना चाहते थे कि महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम, भोजन का अधिकार अधिनियम और जनजाति विधेयकों की उनके राज्यों में क्या स्थिति है और भाजपा किस तरह इन कानूनों को नष्ट करने की कोशिश कर रही है.”

कांग्रेस नेता ने कहा, “पीसीसी अध्यक्षों ने एक अच्छी प्रस्तुति दी है. एक विपक्षी दल के नाते हम सरकार पर दबाव बनाना चाहते हैं ताकि वह देश के गरीबों, किसानों, श्रमिकों व मजदूरों की तरफ ध्यान दे.”

गांधी ने कहा, “हम भारतीय जनता पार्टी की इस सरकार को देश के सिर्फ तीन-चार मित्र पूंजीपतियों के लिए काम नहीं करने देंगे.”

इस बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को कांग्रेस नेतृत्व की खिल्ली उड़ाई और कहा कि जहां विपक्ष संसद को चलाना चाहता है, वहीं एक परिवार अपनी चुनावी हार का बदला लेने के लिए राज्यसभा को नहीं चलने देना चाहता.

मोदी ने ऊपरी असम के डिब्रूगढ़ जिले में एक सार्वजनिक सभा में कहा, “जो दल लोकसभा में 400 सीटों से 40 सीटों पर सिमट गया, वह रोड़ा अटका रहा है. विपक्षी पार्टियां चाहती हैं कि संसद चले, लेकिन सिर्फ एक परिवार 2014 के आम चुनाव में अपनी हार का बदला लेने के लिए राज्यसभा नहीं चलने देना चाहता.”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!