राहुल को पीएम नहीं, चुनाव की कमान

नई दिल्ली | समाचार डेस्क: तमाम अटकलों पर विराम लगाते हुए कांग्रेस ने राहुल गांधी को पीएम की बजाये चुनाव अभियान समिति की कमान सौंप दी है. इससे पहले कयास लगाये जा रहे थे कांग्रेस कार्य समिति में राहुल गांधी को पार्टी का पीएम पद का उम्मीदवार घोषित किया जायेगा.

इन राजनीतिक अटकलो को तब और बल मिला जब राहुल गांधी ने पिछले दिनों एक समाचार पत्र को दिये साक्षात्कार में स्वीकार किया था कि वे पार्टी द्वारा दी गई किसी भी जिम्मेदारी का पालन करने के लिये तैयार हैं.


बैठक के बाद कांग्रेस के प्रवक्ता जनार्दन द्विवेदी ने कहा कि कांग्रेस कार्य समिति के सभी सदस्य एकमत से राहुल गांधी को पीएम पद का उम्मीदवार बनाने के लिये सहमत थे. परन्तु कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कांग्रेस की परंपराओं का हवाला देते हुए इस प्रस्ताव को खारिज कर दिया.

इससे पहले अनुमान लगाया जा रहा था कि कांग्रेस सीडब्ल्यूसी की बैठक में या शुक्रवार को होने जा रही अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी की बैठक में राहुल को प्रधानमंत्री पद का प्रत्याशी घोषित करेगी. कांग्रेस के पुराने सहयोगी और राष्ट्रीय जनता दल नेता ने भी राहुल के नेतृत्व में भरोसा जताते हुए उन्हें बेहतर उम्मीदवार कहा है.

सहयोगियों और पार्टी के भीतर की राय को गुरुवार की बैठक में दरकिनार कर दिए जाने के बाद यह साफ हो गया है कि कांग्रेस पूर्व की भांति इस वर्ष होने जा रहे आम चुनाव में भी किसी को प्रधानमंत्री पद का प्रत्याशी घोषित नहीं करेगी.

द्विवेदी ने कहा कि पार्टी में सोनिया के बाद राहुल गांधी दूसरे नंबर पर होंगे. उन्होंने कहा कि अगले आम चुनाव में राहुल गांधी कांग्रेस के प्रचार अभियान की कमान संभालेंगे. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री पद का प्रत्याशी घोषित करने की जरूरत नहीं है.

इससे पहले पार्टी सूत्रों ने बताया था कि बैठक में प्रधानमंत्री पद के प्रत्याशी के रूप में नाम पेश किए जाने के बारे में विभिन्न सुझावों पर भी विचार किया जाना है, लेकिन पार्टी में इस बारे में अलग-अलग राय है.

पार्टी सूत्रों ने कहा था कि पार्टी का एक धड़ा प्रधानमंत्री प्रत्याशी पेश किए जाने के पक्ष में है, जबकि दूसरे समूह को इस तरह के कदम पर आपत्ति है.

ऐसा माना जा रहा है कि पार्टी का एक धड़ा चाहते है कि राहुल गांधी को पीएम पद का उम्मीदवार घोषित करने से पार्टी कार्यकर्ताओं में नये जोश का संचार होगा. वहीं बताया जा रहा है कि दूसरा धड़ा नहीं चाहता कि हार की स्थिति में राहुल गांधी को इसके लिये दोषी ठहराया जा सके.

बहरहाल गुरुवार की बैठक से यह स्पष्ट है कि शुक्रवार को हो रहे कांग्रेस के अधिवेशन में राहुल गांधी को पीएम पद का उम्मीदवार नहीं घोषित किया जा रहा है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!