रेल दुर्घटना का जिम्मेदार कौन?

नई दिल्ली | एजेंसी: केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने बुधवार को कहा कि बिहार में दिल्ली-डिब्रुगढ़ राजधानी एक्सप्रेस के दुर्घटनाग्रस्त होने के लिए नक्सलियों को जिम्मेदार ठहराना जल्दबाजी होगी.

राजनाथ ने मीडिया से कहा, “मैंने सीधे घटनास्थल पर मौजूद रेल अधिकारियों से बात की है. प्रधानमंत्री को सभी गतिविधियों से जुड़ी जानकारी मुहैया कराई जा रही है. वह भी इस बात से सहमत है कि नक्सलियों को जिम्मेदार ठहराना जल्दबाजी होगी. हमें घटना की रिपोर्ट का इंतजार करने दें.”


उन्ही की तरह रेल मंत्री सदानंद गौड़ा ने बुधवार को कहा कि छपरा में राजधानी एक्सप्रेस के दुर्घटनाग्रस्त होने के कारणों के विषय में अभी कुछ भी कहना जल्दबाजी होगी.

नई दिल्ली से पटना पहुंचने के बाद हवाईअड्डे पर संवाददाताओं से बातचीत में उन्होंने कहा कि अभी वे घटनास्थल के रास्ते में हैं. वहां जाकर वह अधिकारियों से बात करेंगे तथा घटनास्थल का निरीक्षण करेंगे. दुर्घटना के कारणों के विषय में अभी कुछ भी कहना जल्दबाजी होगी.

इससे यह सवाल उठता है कि राजधानी एक्सप्रेस के दुर्घटना का जिम्मेदार कौन है. शुरुआती तौर पर ऐसा लगता है कि तोड़-फोड़ की गई है क्योंकि रेल की पटरी टूटी हुई पाई गई. घटना से 25 किलोमीटर दूर बम भी बरामद हुआ है.

उल्लेखनीय है कि बिहार के सारण जिले के छपरा कचहरी और गोल्डनगंज रेलवे स्टेशन के बीच रात 2.11 बजे 12236 नई दिल्ली-डिब्रूगढ़ राजधानी एक्सप्रेस के 12 डिब्बे पटरी से उतर गए, जिसमें तीन महिला समेत चार लोगों की मौत हो गई है, जबकि 15 से ज्यादा लोग घायल बताए जा रहे हैं.

मृतकों में पवन कुमार धवन, उनकी पत्नी नीलम धवन, भारती बेदी, फिरोजपुर, शेफाली डे, पीलीभीत शामिल हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!