रायपुर में दूषित पानी ने ढाया कहर

रायपुर | संवाददाता: रायपुर के पंडरी और इसके आसपास के कई इलाकों में नगर निगम की नलों में आ रहे गंदे पानी ने रहवासियों के स्वास्थ्य पर जमकर कहर ढाया है. शुक्रवार शाम तक शहर के पंडरी, जगन्नाथपारा, झंडा चौक एवं आसपास की बस्तियों में गंदे पानी से जनित सर्दी, खांसी, बुखार के साथ ही पीलिया, डायरिया के 60 से अधिक मरीज सामने आए हैं.

पंडरी और उसके आस-पास के इलाकों में पिछले कुछ दिनों से नलों से गंदा पानी आने की शिकायतें मिल रही थी. लोग इसकी शिकायत नगर निगम प्रशासन से भी कर रहे थे. इसके बाद भी किसी अफसर ने रूचि नहीं दिखाई.

गुरुवार को इस क्षेत्र में अचानक पीलिया के दर्जनभर मरीज सामने आए. इसमें पार्षद चंद्र बेहरा व उसकी बेटी भी शामिल है. लोगों का कहना है कि नलों में गंदा पानी आने की वजह से पीलिया, डायरिया के साथ ही और कई संक्रामक बीमारियां फैल रही हैं. इसके बाद भी नगर निगम प्रशासन चुप है.

स्थिति की गंभीरता को देखते हुए नगर निगम स्वास्थ्य विभाग ने शुक्रवार को जगन्नाथ नगर मे स्वास्य्ी शिविर लगाया, जहां शाम तक सर्दी, खांसी, बुखार के साथ ही पीलिया, डायरिया से पीडि़त मरीज इलाज के लिए पहुंचते रहे.

शिविर में तैनात उप स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. भाग्यलक्ष्मी राव एवं उनकी टीम ने प्रभावितों का उपचार कर नि:शुल्क दवा बांटी. शिविर में तैनात अधिकारियों का कहना है कि प्रभावित बस्तियों में क्लोरीन की करीब 10 हजार टेबलेट भी बांटे गए. उनका यह शिविर शनिवार को भी लगाया जाएगा.

इसके अलावा पीलिया, डायरिया प्रभावित बस्तियों में मुख्यमंत्री शहरी स्वास्थ्य योजना के तहत संचालित मोबाइल यूनिट भी तैनात की गई थी. वाहन में तैनात डॉक्टर व अन्य कर्मचारी घर-घर जाकर लोगों का इलाज करते रहे और यह पता लगाते रहे कि पीलिया, डायरिया से और कितने लोग प्रभावित हैं. बताया गया कि यह यूनिट शनिवार को भी बस्तियों में जाकर लोगों का इलाज करेगी.

निगम के डॉक्टरों का कहना है कि पीलिया के जो मरीज मिले हैं, वे पुराने हैं. फिलहाल कोई नया मरीज सामने नहीं आए हैं.

नगर निगम सभापति एवं जोन-3 अध्यक्ष संजय श्रीवास्तव का कहना है कि पाइप लाइन में लीकेज होने का वजह से पंडरी क्षेत्र की इन बस्तियों में गंदा पानी आ रहा है. जल विभाग की टीम ने 8 जगहों से पानी का सैंपल लिया है. जांच रिपोर्ट जल्द ही आ जाएगी. उनका यह भी कहना है कि सड़कों व नालियों की सफाई न होने की वजह से भी बीमारियां फैल रही है. इसके लिए किवार कंपनी जिम्मेदार है. उन्होंने कहा कि प्रभावितों का इलाज कर उन्हें निशुल्क दवाइयां दी जा रही है.

नगर निगम जोन-3 के कमिश्नर एसके राठौर का कहना है कि पीलिया, डायरिया की शिकायत मिलने पर जल एवं स्वास्थ्य विभाग की टीम संबंधित इलाके में तैनात कर दी गई है. वहां पानी की जांच के साथ ही लोगों का स्वास्थ्य परीक्षण किया जा रहा है. फिलहाल कहां-कहां पाइप लाइन में लीकेज है इसकी जानकारी उन्हें नहीं मिल पाई है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *