मेडिकल कॉलेज में छात्रों का फर्जीवाड़ा

रायपुर | एजेंसी: छत्तीसगढ़ के एक मेडिकल कॉलेज में प्रवेश पाने के लिए फर्जी निवास प्रमाणपत्र संबंधी नया फर्जीवाड़ा सामने आया है. इसमें शामिल सात छात्रों को बर्खास्त किया जाएगा

यहां के कॉलेजों में दाखिला लेने के लिए मध्य प्रदेश के सात छात्रों ने छत्तीसगढ़ का फर्जी निवास प्रमाणपत्र बनवाया और यहां दाखिला ले लिया. इन छात्रों को चालू सत्र में ही कॉलेज से निकाला जाएगा.


चिकित्सा शिक्षा विभाग के उपनिदेशक डॉ. सुमीत त्रिपाठी, डिप्टी डायरेक्टर बताया कि इन छात्रों के खिलाफ एफआईआर भी दर्ज होगी.

सूत्रों के अनुसार, संबंधित सात छात्रों ने फर्जी सर्टिफिकेट से पिछले साल जुलाई में दाखिला लिया था. उसी समय काउंसिलिंग विवादास्पद हो गई थी. कुछ छात्रों के निवास प्रमाण पत्र को लेकर दूसरे उम्मीदवारों ने ऑन द स्पाट ही आपत्ति की थी.

चिकित्सा शिक्षा विभाग के अधिकारियों ने आपत्ति को किनारे करते हुए संदेह के दायरे में आने वाले उम्मीदवारों को प्रवेश दे दिया. काउंसिलिंग में शामिल भिलाई के प्रवीण साहू ने हताश होकर हाईकोर्ट में याचिका दाखिल की. उन्होंने सातों का प्रमाण पत्र जांचने का आग्रह करते हुए एडमिशन रद्द करने की मांग की थी.

उसके बाद चिकित्सा शिक्षा विभाग ने मप्र के चिकित्सा शिक्षा विभाग से जानकारी मंगवाई. उसमें पुष्टि हुई कि उन उम्मीदवारों ने मध्य प्रदेश की काउंसलिंग में भी हिस्सा लिया था. सातों जालसाज छात्रों को निकाले जाने के बाद ये सीटें लैप्स हो जाएंगी. नुकसान छत्तीसगढ़ के छात्रों का होगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!