बारूदी सुरंगों से विकास नहीं होता

रायपुर | संवाददाता: छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रमन सिंह ने कहा है कि बारूदी सुरंगों से जनता का कोई विकास नहीं होता. उन्होंने दावा किया है कि छत्तीसगढ़ में नक्सलियों का समर्थन करने वालों की संख्या 2 प्रतिशत से भी कम है. मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य के विकास से बस्तर में भी सुदूर गांवों तक लोकतंत्र की बुनियाद मजबूत हो रही है. इसे देखकर नक्सली बौखला गए हैं. घात लगाकर हिंसक वारदात करके वे अपनी बौखलाहट निकाल रहे हैं.

मुख्यमंत्री रमन सिंह ने अलजजीरा से बातचीत करते हुये कहा कि छत्तीसगढ़ सहित आज पूरा देश नक्सलियों के खिलाफ खड़ा हो गया है. रमन सिंह ने कहा कि दरअसल नक्सली हमेशा पंचायत से लेकर पार्लियामेन्ट तक लोकतंत्र का विरोध करते हैं. वे आम जनता को और विशेष रूप से आदिवासी क्षेत्रों की जनता को बिजली, पानी, सड़क, सिंचाई, स्वास्थ्य, स्कूल, अस्पताल जैसी सरकारी सुविधाओं से वंचित रखना चाहते हैं, लेकिन उन्हें समझना चाहिए कि बारूदी सुरंगों से जनता का कोई विकास नहीं होता. पंचायत भवनों, स्कूल भवनों और पुल-पुलियों तोड़ना विकास नहीं हैं.


रमन सिंह ने कहा कि छत्तीसगढ़ की जनता आज अपनी निर्वाचित सरकार के साथ है. बहुत कम लोग हैं, जो नक्सलियों का समर्थन करते हैं. ऐसे लोगों की संख्या दो प्रतिशत भी नहीं हैं. मुख्यमंत्री ने कहा कि निकट भविष्य में पूरे बस्तर राजस्व संभाग में लगभग दस लाख युवाओं को स्वरोजगार प्रशिक्षण देने का लक्ष्य है, ताकि उन्हें आर्थिक रूप से आत्म निर्भर बनाया जा सके.

मुख्यमंत्री रमन सिंह कहा कि 25 मई के नक्सली हमले से भले ही हम सब लोग कुछ समय के लिए विचलित हुए हैं, लेकिन छत्तीसगढ़ को और बस्तर को विकास के रास्ते पर आगे बढ़ने से कोई नहीं रोक सकता. उन्होंने कहा कि राज्य के विकास से बस्तर में भी सुदूर गांवों तक लोकतंत्र की बुनियाद मजबूत हो रही है. इसे देखकर नक्सली बौखला गए हैं. घात लगाकर हिंसक वारदात करके वे अपनी बौखलाहट निकाल रहे हैं.

रमन सिंह ने कहा कि बस्तर में आयोजित विकास यात्रा के कार्यक्रमों में हजारों लोगों ने अपनी उत्साहजनक भागीदारी दी. पूरे बस्तर राजस्व संभाग में विकास यात्रा में लगभग सात लाख लोगों ने हिस्सा लिया. इसे देखकर नक्सलियों ने अपनी खीज उतारने के लिए हिंसक गतिविधियों से विकास प्रक्रिया को रोकने की कोशिश की है. उन्हें लगता है कि ऐसा करने पर लोग उनसे डर जाएंगे, लेकिन भय पैदा करके वे अपने मंसूबे को पूरा नहीं कर सकते.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!