पुत्रजीवक बांझपन की दवा: रामदेव

नई दिल्ली | समाचार डेस्क: बाबा रामदेव ने कहा पुत्रजीवक दवा बांझपन दूर करने की दवा है लड़का पैदा करने की नहीं. उन्होंने संवाददाता सम्मेलन में कहा कि आगे इस इस दवा के नीचे लिखा रहेगा कि यह बांझपन दूर करने की दवा है. योग गुरु बाबा रामदेव ने शुक्रवार को कहा कि ‘पुत्रजीवक’ एक आयुर्वेदिक दवा है और इसका उद्देश्य निसंतान दंपतियों को मदद करना है. उन्होंने कहा कि इससे न तो लिंग का चुनाव किया जा सकता है और न ही लिंग निर्धारण किया जा सकता है. उन्होंने कहा कि कई ऐसे नेता हैं जो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आलोचना नहीं कर पा रहे हैं और अब वे इस गैर मुद्दे के जरिए उन पर निशाना साध रहे हैं.

बाबा रामदेव ने यहां एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि यह दवा अवैध नहीं है, इसके जरिए लिंग का चुनाव नहीं किया जा सकता है.


जनता दल युनाइटेड के नेता के.सी. त्यागी ने राज्यसभा में इस मुद्दे को गुरुवार को उठाया था.

त्यागी ने दिव्य फार्मेसी के उत्पाद ‘दिव्य पुत्रजीवक’ दिखाते हुए कहा था, “प्रधानमंत्री ने बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ का आह्वान किया है और बाबा रामदेव बेटी नहीं, बेटा पैदा करने पर जोर दे रहे हैं, इसके लिए दवा बनाकर बेच रहे हैं, यह कैसा विरोधाभास है.”

रामदेव ने कहा, “यह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को निशाना बनाने के लिए किया जा रहा है.” इसके साथ ही उन्होंने कहा कि के.सी. त्यागी को माफी मांगनी चाहिए.

मोदी समर्थक बाबा रामदेव ने दवा का नाम पुत्रजीवक रखे जाने पर सफाई देते हुए कहा कि कई भारतीय भाषाओं में इस दवा का यही नाम है और अगर इसमें समस्या है तो नीचे एक पंक्ति लिखकर हम इसे सुधारेंगे, जिसमें लिखा होगा कि यह दवा बांझपन दूर करती है और इससे केवल लड़के पैदा करने में मदद नहीं मिलती.

रामदेव ने काले धन पर कहा कि मोदी इस मुद्दे पर काम कर रहे हैं और इस मसले को सुलझाने के लिए देश को उन्हें और समय देना चाहिए.

उन्होंने कहा, “मैं इस मुद्दे को छोड़ नहीं रहा हूं, लेकिन प्रधानमंत्री को इस पर और समय दिया जाना चाहिए.” उन्होंने कहा कि सरकार ने इस पर काम शुरू कर दिया है.

उल्लेखनीय है कि योगगुरु स्वामी रामदेव के औषधालयों में पुत्र पैदा करने की दवा ‘दिव्य पुत्रजीवक’ बेचे जाने का मुद्दा गुरुवार को राज्यसभा में उठाया गया था, जिस पर जमकर हंगामा हुआ.

पतंजलि योगपीठ ने गुरुवार को एक बयान जारी कर कहा था, “इस दवा का हिंदी नाम पुत्रजीवक है, जबकि वानस्पतिक नाम पुत्रजीवरोक्सबर्गी है. महर्षि चरक से लेकर सुश्रुत तक, सभी आयुर्वेद विशेषज्ञों ने इसके बारे में लिखा है. यह महिलाओं को बांझपन से मुक्ति दिलाता है, न कि लिंग के चयन के लिए है.”

उल्लेखनीय है कि दिव्य फार्मेसी की वेबसाइट पर बेटे पैदा करने वाली इस दवा की कीमत 10.99 डॉलर लिखा है. इसके बारे में कहा गया है कि ‘पुत्रजीवक’ एक अनोखा हर्बल उत्पाद है, जो कामोद्दीपक, गर्भपात रोकने वाला और बांझपन मिटाने में मदद करता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!