रघुराम राजन अमरीका वापस जायेंगे

मुंबई | समाचार डेस्क: रघुराम राजन रिजर्व बैंक में दूसरी पारी खेलने की जगह अमरीकी विद्यालय में शिक्षा देंगे. उन्होंने स्पष्ट कर दिया कि वे रिजर्व बैंक के गवर्नर के रूप में दूसरे कार्यकाल के इच्छुक नहीं है तथा इसके लिये उन्होंने सरकार से चर्चा कर ली है. भारतीय रिजर्व बैंक के गर्वनर रघुराम राजन ने महीनों से चल रही अटकलों को विराम देते हुए अपने सहकर्मियों से आधिकारिक रूप से कहा है कि वह दूसरे कार्यकाल के इच्छुक नहीं है और सितंबर में अपना कार्यकाल पूरा होने पर शिक्षा जगत में वापस लौट जाएंगे. उन्होंने यह बात अपने सहकर्मियों को संबोधित 888 शब्दों के पत्र में कही है, जिसकी प्रति मीडिया के पास भी है.

सितंबर 2013 से केंद्रीय बैंक के 23वें गर्वनर के रूप में अपने कार्यकाल को दर्शाते हुए राजन ने कहा है कि उन्होंने वृद्धि के बजाए पहले सुधार पर जोर दिया. उन्होंने संकेत दिया कि काफी कुछ किया गया, लेकिन अभी भी कई काम अधूरे रह गए हैं.


उन्होंने कहा, “सरकार से चर्चा के बाद, मैं आपसे साझा करना चाहूगा कि चार सितंबर, 2016 को अपना कार्यकाल पूरा होने के बाद मैं वापस शिक्षा जगत में लौट रहा हूं. जब भी देश को मेरी जरूरत होगी, मैं हमेशा उपलब्ध रहूंगा.”

उन्होंने कहा है कि वह अमरीकी विश्वविद्यालय लौट रहे हैं, जहां से वह छुट्टी पर थे. राजन ने कहा कि उनके कार्यकाल में जो काम अधूरा रह गया, वह है केंद्रीय बैंक की नीतियों के संदर्भ में मोटे तौर पर मार्गदर्शन के लिए एक समिति का गठन और बैंकों के बैलेंस शीट को दुरुस्त करना.

राजन के दूसरे कार्यकाल को लेकर काफी अटकलें लगाई जा रही थीं. ज्यादातर लोग उन्हें दूसरा कार्यकाल दिए जाने के पक्ष में थे, क्योंकि उनका मानना था कि कठिन समय में वह भारत के एक सबसे अच्छे गर्वनर साबित हुए, लेकिन कुछ ने उनकी आलोचना भी की है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!