रिहा हुए होस्नी मुबारक अभी रहेंगे नज़रबंद

काहिरा | एजेंसी: गृहयुद्ध का सामना कर रहे मिस्र की एक अदालत ने काहिरा जेल प्रशासन को पूर्व राष्ट्रपति हुस्नी मुबारक को रिहा करने का आदेश दिया है. स्थानीय मीडिया के मुताबिक, जेल से रिहा होने के बाद मुबारक माडे सैन्य अस्पताल ले जाए जाएंगे जहां वे सुनवाई पूरी होने तक नजरबंद रहेंगे. मामले की अगली सुनवाई शनिवार को होगी.

मुबारक के खिलाफ भ्रष्टाचार के आखिरी मामले का निपटरा हो जाने के बाद यह आदेश दिया गया है. सिन्हुआ ने मिस्र की सरकारी समाचार एजेंसी का हवाला देते हुए बताया है कि सुरक्षा कारणों से मुबारक को सेना के हेलीकॉप्टर के जरिए नजरबंदी के लिए ले जाया जाएगा.

बुधवार को अदालत ने अहराम संस्थान से संबंधित भ्रष्टाचार के मामले में मुबारक की अर्जी स्वीकार कर ली. उनके वकील ने एक करोड़ 83 लाख मिस्री पाउंड चुकाया. यह राशि मुबारक और उनके दो बेटों ने सूचना मंत्री के माध्यम से लिए गए उपहार के बराबर है.

इसके बाद अदालत ने भ्रष्टाचार के दूसरे मामले में आरोपित नहीं होने तक मुबारक को रिहा करने का आदेश दिया.

देश में आपातकाल की स्थिति को देखते हुए अंतरिम प्रधानमंत्री हाजेम अल-बेबलावी ने राजनीतिक संकट का सामना कर रहे देश में और अधिक जटिलता पैदा होने से बचने के लिए नजरबंद रखने का आदेश दिया.

मुबारक अभी भी विदेश यात्रा पर नहीं जा सकेंगे क्योंकि वे 2011 के प्रदर्शनों के दौरान प्रदर्शनकारियों की हत्या में संलिप्तता के आरोपों का सामना कर रहे हैं. उस समय शुरू हुए प्रदर्शनों के कारण ही मुबारक को सत्ता से हाथ धोना पड़ा था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *