ऋषि के निशाने पर नेहरू-गांधी परिवार

मुंबई | मनोरंजन डेस्क: हवा का रुख देखकर ऋषि कपूर नेहरू-गांधी परिवार पर जमकर बरसें. उन्होंने नेहरु-गांधी परिवार पर वही बात दोहराई है जो सोशल मीडिया पर गांधी परिवार के विरोधी पिछले कुछ समय से उठाते रहें हैं. अब इसे मीडिया में बने रहने की कोशिश कहा जाये या वाकई में ऋषि कपूर के विचार कहा जाये. ऋषि कपूर ने एक के बाद एक ट्वीट किये हैं जिससे जाहिर होता है कि उनके मन में नेहरु-गांधी परिवार द्वारा सरकारी इमारतों, एयरपोर्ट, सड़कें के नाम अपने पूर्वजों के नाम करने को लेकर काफी गुस्सा है. हिन्दी सिने जगत के दिग्गज कलाकार ऋषि कपूर एक बार फिर अपने ट्वीट को लेकर सुर्खियों में हैं, जिनमें उन्होंने अप्रत्याशित रूप से नेहरू-गांधी परिवार पर निशाना साधा है. अपने ट्वीट में ऋषि ने सवाल किए हैं कि आखिर देश की लगभग सभी संपत्तियों के नाम नेहरू-गांधी परिवार पर ही क्यों हैं? उन्होंने मौजूदा सारकार से इन संपत्तियों के नाम में बदलाव करते हुए इनका नामकरण उनपर किए जाने की अपील की है, जिन्होंने समाज के लिए योगदान दिया.

ऋषि ने मंगलवार रात ट्वीट किया, “हमें देश की महत्वपूर्ण संपत्तियों के नाम समाज में योगदान देने वालों पर रखना चाहिए. हर चीज गंधी के नाम? मैं सहमत नहीं हूं. सोचना लोग.”

बॉलीवुड के दिग्गज अभिनेता ने आगे लिखा, “कांग्रेस द्वारा गांधी परिवार के नामों पर रखे गए भारतीय संपत्तियों के नाम बदले जाएं. बांद्रा/वरली सी लिंक का नाम लता मंगेशकर या जेआरटी टाटा लिंक रोड हो. बाप का माल समझ रखा था.”

‘बॉबी’ फिल्म के अभिनेता ने कहा, “इंदिरा गांधी अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा क्यों? आखिर महात्मा गांधी या भगत सिह क्यों नहीं, अम्बेडकर क्यों नहीं या मेरे नाम ऋषि कपूर पर क्यों नहीं?”

बॉलीवुड के 63 वर्षीय अभिनेता ने सवालिया लहजे में कहा कि अगर नई दिल्ली में सड़कें बदल सकती हैं, तो कांग्रेस संपत्तियों के नाम क्यों नहीं?

ऋषि ने मांग की, “फिल्म सिटी का नाम दिलीप कुमार, देव आनंद, अशोक कुमार या अमिताभ बच्चन के नाम पर होना चाहिए? राजीव गांधी उद्योग का क्या होता है? सोचो दोस्तों!”

उन्होंने यह भी कहा कि महत्वपूर्ण स्थलों के नाम दिग्गज हस्तियों मोहम्मद रफी, मुकेश, मन्ना दे और किशोर कुमार के नाम पर होने चाहिए.

अपने पिता और दिग्गज कलाकार राज कपूर के योगदान पर प्रकाश डालते हुए ऋषि ने लिखा, “राज कपूर ने कई वर्षो तक भारत को गौरवान्वित किया, यहां तक कि अपने निधन के बाद भी.”

केंद्रीय विदेश राज्य मंत्री वी.के. सिंह ने मंगलवार को मांग की थी कि नई दिल्ली के अकबर रोड का नाम बदलकर महाराणा प्रताप के नाम पर कर देना चाहिए. इसी रोड पर कांग्रेस पार्टी का मुख्यालय है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *