सचिन-अंजलि का ‘Tendulkar Love Story’

मुंबई | मनोरंजन डेस्क: सचिन तेंदुलकर की आत्मकथा ‘प्लेइंग इट माई वे’ के विमोचन के मौके पर उनकी पत्नी अंजलि ने अपने विवाह की कहानी बयां की. कहानी के खत्म होते-होते अंजलि ने अपने तथा सचिन के बीच के लव स्टोरी को दुनिया के सामने रख दिया. इससे पहले भी अंजलि ने सचिन के साथ अपने प्रेम की कथा को सगर्वजनिक किया था. बुधवार को ‘प्लेइंग इट माई वे’ के विमोचन के अवसर पर अंजलि ने बताया कि किस तरह से वह पहली बार सचिन तेंदुलकर से मिली थी तथा सचिन के लिये उन्होंने अपना डॉक्टरी का पेशा छोड़ दिया था. अंजलि ने बताया कि सचिन उन पर इतने निर्भर हो गये थे कि उन्होंने अपना पेशा छोड़ने का निर्णय लिया था. ऐसी बात बिरले ही देखने में आता है कि किसी डॉक्टर ने अपने पति के लिये अपना पेशा छोड़ दिया.

अंजलि ने ‘प्लेइंग इट माई वे’ के विमोचन के समय मंच से बताया कि वह पहली बार सचिन तेंदुलकर से उस समय हवाई अड्डे पर मिली थी जब वह अपने मां को रिसीव करने के लिये गई थी. उस वक्त तक अंजलि, सचिन को नहीं पहचानती थी. यह बात 1990 की है. इस मुलाकात के बाद सचिन और अंजलि की लव स्टोरी करीब 5 साल तक चली तथा 1995 में उन्होंने विवाह कर लिया.

अंजलि ने अपने सचिन के घर पहली बार जाने की घटना का जिक्र करते हुए कहा कि, सचिन ने उनसे कह रखा था कि घर में एक महिला पत्रकार के रूप में आना. अंजलि उस समय सचिन के घर सलवार-कुर्ते में एक पत्रकार बनकर गई थी. अंजलि ने बताया कि उनके सचिन के घर जाने पर सचिन की बहन सविता ताई उसे देखने के लिये निकली थी क्योंकि उससे पहले सचिन से मिलने घऱ में कोई महिला पत्रकार नहीं गई थी.

अंजलि जितने देर तक मंच पर उनकी प्रेम कहानी के बारे में बताती रही क्रिकेट के महान खिलाड़ी तथा भारत रत्न सचिन तेंदुलकर शर्माते हुए से बैठे रहे. क्रिकेट विशेषज्ञ हर्षा भोगले ने कार्यक्रम की मेजबानी की और मंच पर मौजूद दिग्गज खिलाड़ियों सुनील गावस्कर, दिलीप वेंगसरकर, वासु परांजपे के अलावा सौरव गांगुली, राहुल द्रविड़, वीवीएस लक्ष्मण और खुद तेंदुलकर के साथ उनके जीवन और भारतीय क्रिकेट में उनके योगदान पर बातचीत की.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *