पैरोल पर छूटे संजय दत्त

पुणे | समाचार डेस्क: महाराष्ट्र विधानसभा का शुक्रवार को सत्र खत्म होने के बाद शनिवार को संजय दत्त को पैरोल पर रिहा कर दिया गया है. गौरतलब है कि अधिकांश पार्टियां संजय दत्त को पैरोल पर रिहा किये जाने का विरोध कर रही थी. संजय दत्त की पैरोल पर रिहाई एक विवादास्पद मुद्दा बन गया है.

पिछले तीन महीनों में यह दूसरा मौका है, जब संजय दत्त को पैरोल पर छोड़ा गया है. उनको एक अक्टूबर को 15 दिनों के लिए पैरोल पर छोड़ा गया था, जिसे बाद में 15 दिनों के लिए और बढ़ा दिया गया. वह 30 अक्टूबर को वापस जेल लौटे आए थे. उन्होंने इस महीने के शुरू में पुणे के डिविजनल कमिश्नर से पैरोल की मांग की थी.

फिल्म अभिनेता संजय दत्त को अपनी बीमार पत्नी मान्यता की देखरेख के लिए एक महीने के पैरोल पर शनिवार को रिहा कर दिया गया. आधिकारिक सूत्रों ने शनिवार को इसकी जानकारी दी. दत्त यरवदा केंद्रीय कारागार से निकलकर मुंबई के लिए रवाना हो चुके हैं. ज्ञात्वय रहे कि फिल्म अभिनेता संजय दत्त ने अपनी पत्नी के बीमारी का हवाला दे कर पैरोल की मांग की थी. उसी समय उनकी पत्नी मान्यता को मुंबई में एक पार्टी में देखा गया था. इसी के बाद से विवाद की स्थिति उत्पन्न हो गयी है.

प्रसिद्ध फिल्म अभिनेता तथा अभिनेत्री, सुनील दत्त और नरगिस के पुत्र संजय शुरु से ही विवादो के घेरे में रहें हैं. पहले यह कहा जाता था कि संजय दत्त नसेड़ी हैं बाद में उनकी संलिप्पता मुंबई बम धमाकों में भी पाई गयी थी. इसी के चलते संजय दत्त पुणे की जेल में 5 साल की सजा काट रहें हैं. आखिरकार तमाम विवादों के बावजूद संयज दत्त को पैरोल पर रिहा कर दिया गया है. उन्हें एक माह के पैरोल पर रिहा किया गया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *