‘महराज’ ने भाजपा की पेशकश ठुकराई

रायपुर | समाचार डेस्क:बंगाल में महराज के नाम से प्रख्यात सौरभ गांगुली ने भाजपा की पेशकश ठुकरा दी है. शनिवार को बताया जा रहा था कि पूर्व क्रिकेट कप्तान सौरभ गांगुली को नरेन्द्र मोदी ने लोकसभा का चुनाव लड़ने का न्यौता दिया है. यह भी बताया जा रहा था कि मोदी ने सौरभ गांगुली से सरकार बनने की स्थिति में कैबिनेट मंत्री का पद देना का आफर किया था. सौरभ गांगुली को खेल मंत्री बनाये जाने की खबर थी.

सूत्रो के अनुसार सौरभ गांगुली ने राजनीति से दूर रहने की बात की है. उन्होंने कहा है कि उनका काम मैदान से है कहीं और से नहीं. यह भी बताया जा रहा है कि नवंबर माह में सौरभ गांगुली भाजपा नेता वरुण गांधी से मिल चुके हैं. उसी के बाद से अटकलों का दौर जारी है. गौर तलब है कि वर्तमान में भाजपा के पास पश्चिम बंगाल से केवल एक लोकसभा सीट दार्जिलिंग से है. पश्चिम बंगाल में लोकसभा की 42 सीटें हैं.


राजनीतिक प्रेक्षकों के अनुसार मोदी अपने मिशन 2014 के तहत हिन्दी पट्टी से बाहर के लोकसभा के सीटों पर भी नजर गड़ाये बैठे हैं. यदि सौरभ गांगुली पश्चिम बंगाल से भाजपा के लिये लोकसभा का चुनाव लड़ने के लिये तैयार हो जाते हैं तो यह यह भाजपा के लिये पश्चिम बंगाल में संजीवनी के समान कार्य करेगा.

गौर तलब है कि पश्चिम बंगाल के लोग जबरदस्त खेल प्रेमी हैं तथा सौरभ गांगुली के कारण वहां के लोगो का रुझान क्रिकेट में बढ़ा था. इससे पहले पश्चिम बंगाल के लोग मूलतः फुटबाल के दीवाने थे. लेकिन जब से सौरभ गांगुली का क्रिकेट का करियर चौपट किया गया है पश्चिम बंगाल के लोग नाराज चल रहें हैं. उनकी सहानुभूति सौरभ गांगुली के साथ है तथा गुस्सा ग्रेग चैपल पर है. लेकिन इतिहास को तो बदला नही जा सकता है, हॉ भविष्य को सुंदर जरूर बनाया जा सकता है. लगता है कि मोदी ने इसी सोची समझी रणनीति के तहत अपना दांव चला था. जो अब बताया जा रहा है कि सौरभ गांगुली ने ठुकरा दिया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!