निफ्ट में यौन उत्पीड़न पर महिला आयोग नाराज

भोपाल | एजेंसी:भोपाल स्थित राष्ट्रीय फैशन टेक्नॉलॉजी संस्थान में छात्राओं और संस्थान की महिलाकर्मियों के हुए यौन उत्पीड़न के मामले पर राज्य महिला आयोग में बुधवार को सुनवाई हुई. आयोग ने निफ्ट के प्रबंधन के रवैए पर नाराजगी जताई है. संस्थान के संयुक्त संचालक रहे बसंत कोठारी पर कुछ छात्राओं की ओर से महिला कर्मियों ने यौन उत्पीड़न का आरोप लगाते हुए राज्य महिला आयोग मंे शिकायत दर्ज कराई थी. इसी पर बुधवार को सुनवाई हुई. पीड़ित युवतियों ने आयोग के समक्ष अपना पक्ष खुलकर रखा और आपबीती सुनाई. इस सुनवाई में आरोपी कोठारी नहीं पहुंचे.

राज्य महिला आयोग ने प्रबंधन के रवैए पर नाराजगी जताई है. आयोग की अध्यक्ष उपमा राय का कहना है कि प्रबंधन ने युवतियों को परेशान करने वाले अधिकारी को दंडित करने की बजाय उसे पुरस्कृत करते हुए उसकी मनमर्जी की जगह तबादला कर दिया. कोठारी का कृत्य आपराधिक है ओर उनके खिलाफ प्रबंधन को कदम उठाने थे, जो नहीं किया गया.


पीड़ित युवतियों ने महिला आयोग को बताया कि प्रबंधन उनका साथ देने की बजाय उन्हें लगातार धमका रहा है. आयोग ने इस पर भी चिंता जताई है.

मालूम हो कि संस्थान की छात्राओं की ओर से कर्मियों ने तत्कालीन ज्वाइंट डायरेक्टर पर अपने चेंबर में बुलाने और अकेला पाकर उनसे अश्लील बातें करने के साथ उन्हें छूने की कोशिश करने का आरोप लगाया था.

अपने संस्थान के एक अधिकारी की हरकतों से परेशान छात्राओं और महिला कर्मियों ने संस्थान के तत्कालीन निदेशक एम पी निगम से भी शिकायत की थी, मगर उन्होंने पीड़ितों का साथ देने की बजाय चुप रहने को कहा. पीड़ितों ने अपनी लड़ाई जारी रखी और बाद में शिकायत दिल्ली के कार्यालय तक की. वहां से भी पीड़ितों को निराशा हाथ लगी.

पीडित युवतियों ने जब महिला आयोग में शिकायत की और उस पर नोटिस जारी किया गया तो प्रतिनियुक्ति पर आए निदेशक निगम को मूल विभाग में वापस भेज दिया गया. कोठारी को दंडित करने की बजाय उनका तबादला जोधपुर कर दिया गया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!