शाहरुख खान ने समझाया प्रेम का दर्शन

मुंबई | संवाददाता: फिल्म अभिनेता शाहरुख खान का कहना है कि महान प्रेम की फिल्में वही बना सकता है, जिसने प्रेम को जीया हो.जिसे यह पता हो कि स्त्रियां प्रेम को लेकर क्या सोचती हैं. अगर फिल्मकार को यह नहीं पता होगा तो वह कोई अच्छी फिल्म नहीं बना सकता. इसलिये प्रेम का होना जीवन में जरुरी है.

शाहरुख खान इन दिनों अफनी नई फिल्म जब हैरी मेट सेजल के प्रमोशन में व्यस्त हैं. इस फिल्म में उन्होंने यादगार भूमिका निभाई है, ऐसा उनका दावा है. शाहरुख का कहना है कि यह एक ऐसी प्रेम कहानी है, जो हमारे आसपास ही घटती है.


शाहरुख खान ने यश चोपड़ा, आदित्य चोपड़ा और करण जौहर जैसे फिल्मकारों और उनकी फिल्मों दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे, दिल तो पागल है और कुछ-कुछ होता है का उदाहरण देते हुये खान ने कहा कि इन फिल्मकारों ने प्रेम को समझा है, स्त्रियों को समझा है, इसलिये इनकी प्रेम कहानियों में जीवन नज़र आता है. इन फिल्मकारों ने व्यावसायिकता के साथ-साथ मनुष्ह के ह्रदय को भी जाना है.

किंग खान ने कहा कि मैं किसी असंवेदनशील इंसान के साथ काम नहीं कर सकता. मैं हर रोज 5 ऐसे इंसानों से जरूर मिलता हूं जो यह कहते हैं कि आपने हमारी जिंदगी खराब कर दी, हम आपके जैसे कभी नहीं बन सकते. मेरा जवाब उन लोगों के लिए बस यही होता है कि आपकी जिंदगी खराब नहीं होती, अगर आपने अपनी प्रेमिका या साथी से पूछ लिया होता कि आखिर वह क्या चाहती है.

शाहरुख ने यह भी कहा कि वे अपनी फिल्मों से कोई बदलाव या क्रांति की उम्मीद नहीं करते बल्कि वे अपनी फिल्मों को केवल बेहतर मनोरंजन का माध्यम मानते हैं. उन्होंने यह भी कहा कि फिल्मों की एक सामाजिक भूमिका है लेकिन फिल्मों को समाज का सच मान लेना ठीक नहीं है. हालांकि फिल्मों में जो कुछ घटता है, वह हमारे समाज का ही हिस्सा होता है, समाज का ही सच होता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!