आरबीआई,फेड समीक्षा पर नजर

मुंबई | एजेंसी:चार राज्यों के विधानसभा नतीजों के बाद अब शेयर बाजार की नजर आगामी सप्ताह तीसरी तिमाही के अग्रिम कर भुगतान के आंकड़े पर है. इसके अलावा संसद के शीतकालीन सत्र की गतिविधियों, भारतीय रिजर्व बैंक की मध्य तिमाही मौद्रिक नीति समीक्षा और फेडरल ओपेन मार्केट समिति की बैठक के निष्कर्ष का मुख्य असर रहेगा. मौजूदा कारोबारी साल की तीसरी तिमाही के लिए अग्रिम कर भुगतान की समय सीमा 15 दिसंबर है. इससे निवेश तीसरी तिमाही में कंपनियों की आय का अनुमान लगाएंगे.

स्ट्राइड्स एक्रोलैब ने अपने प्रत्येक शेयर पर 500 रुपये के विशेष लाभांश की घोषणा की है, जिसकी एक्स-डिविडेंड तिथि 19 दिसंबर निश्चित की गई है. कंपनी ने इसी महीने के शुरू में अपनी एजीला स्पेशियल्टी डिवीजन को मिलान इंक को बेचने का सौदा पूर्ण करने के बाद अपने शेयरधारकों को विशेष लाभांश की घोषणा की है.

सरकार सोमवार 16 दिसंबर 2013 को नवंबर 2013 के लिए थोक मूल्य पर आधारित महंगाई दर के आंकड़े जारी करेगी.

भारतीय रिजर्व बैंक बुधवार 18 दिसंबर 2013 को 2013-14 की मौद्रिक नीति की मध्य तिमाही समीक्षा की घोषणा करेगा. इसके बाद तीसरी तिमाही समीक्षा की घाषणा 28 जनवरी 2014 को होगी.

फेडरल ओपेन मार्केट समिति 17-18 दिसंबर 2013 को दो दिवसीय बैठक में अमेरिका में ब्याज दर पर विचार करेगी. फेडरेल रिजर्व अभी हर महीने 85 अरब डॉलर के बांड की खरीदारी करता है ताकि ब्याज दर कम रहे और अमेरिका में आर्थिक तेजी को बल मिले. पिछली बैठक के ब्यौरे से पता चलता है कि यदि अमेरिका में आर्थिक तेजी के संकेत मिलते हैं, तो फेड 85 अरब डॉलर की बांड खरीदारी कार्यक्रम को समाप्त करने शुरुआत कर सकता है. फेड की बांड खरीदारी कार्यक्रम के कारण भारत सहित एशिया की कई उभरती अर्थव्यवस्थाओं में तरलता बनी हुई है.

उधर बैंक ऑफ जापान भी देश में महंगाई को बढ़ावा देने के लिए हर महीने 7,000 अरब येन अर्थात 67.6 अरब डॉलर के जापानी सरकारी बांड की खरीदारी करता है. बैंक ऑफ जापान 19 और 20 दिसंबर को दो दिवसीय नीतिगत बैठक करने वाला है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *