शेयर मजबूती के साथ बंद

मुंबई | एजेंसी: भारतीय शेयर बाजार लगातार तीन दिनों की गिरावट के बाद मजबूती के साथ बंद होने में कामयाब रहे. पिछली तिथि से प्रभावी कराधान पर सरकार के आश्वासन के बाद बाजार को बल मिला.

बंबई स्टॉक एक्सचेंज 1.31 पर बंद हुआ था. लेकिन गुरुवार को सेंसेक्स कर से जुड़ी चिंताओं की वजह से 21 अक्टूबर, 2014 के बाद सबसे निचले स्तर पर बंद हुआ था.


इस दौरान सेंसेक्स में 722.77 अंकों यानी 2.63 प्रतिशत की गिरावट दर्ज हुई थी. पिछली तिथि से प्रभावी कराधान नीति पर स्पष्टता में कमी और कंपनियों के कमजोर तिमाही नतीजों जैसे नकारात्मक कारकों की वजह से बाजार पर दबाव बढ़ा.

सेंसेक्स मंगलवार को 50.45 अंकों यानी 0.18 प्रतिशत गिरावट के साथ बंद हुआ, जबकि सोमवार को यह 479.28 अंकों यानी 1.77 प्रतिशत वृद्धि के साथ बंद हुआ था. लगातार तीन दिनों की गिरावट के बाद ऐसा लग रहा था कि चौथे कारोबारी दिन भी बाजार में गिरावट रहेगी, लेकिन शुक्रवार के कारोबारी सत्र में बाजार बढ़त बनाने में कामयाब रहा.

ब्रोकरेज फर्म शेरखान के मुताबिक, “इस सप्ताह भारतीय बाजार में गिरावट बनी रही और बाजार एक सीमित दायरे में कारोबार करता रहा. इस सप्ताह बाजार के प्रमुख सूचकांक भी सीमित दायरे में रहे.”

इस सप्ताह कर नीतियों पर जारी अनिश्चितताओं, तेल की बढ़ रही कीमतों, रुपये के घटते मूल्य की वजह से बाजार का रुख कमजोर रहा.

विश्लेषकों का कहना है कि विदेशी संस्थागत निवेशकों ने लगातार बिकवाली की. कमजोर रुपये के साथ न्यूनतम वैकल्पिक कर, वैश्विक कच्चे तेल की कीमतों में दोबारा उछाल की वजह से बाजार पर दबाव रहा.

विदेशी निवेशकों ने शेयर बाजारों में 6,553.44 करोड़ रुपये की शुद्ध बिकवाली की.

सरकार द्वारा कर नीतियों में सुधार का आश्वासन देने से बाजार को सहारा मिला.

केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने संसद को संबोधित करते हुए कहा कि विदेशी निवेशकों के साथ न्यूनतम वैकल्पिक कर विवाद का मुद्दा अब विधि आयोग के अध्यक्ष ए.पी.शाह की अध्यक्षता में समिति के समक्ष रख दिया गया है और इस पर समिति से जल्द सुझाव मांगे गए हैं.

इस सप्ताह, 30 में से 10 शेयरों में गिरावट रही, जबकि बाकी 20 शेयर मजबूती के साथ बंद हुए.

जिन शेयरों में सर्वाधिक मजबूती रही. उनमें बजाज ऑटो 9.23 प्रतिशत की मजबूती के साथ 21,29.35 रुपये, हिंडाल्को 7.71 प्रतिशत की मजबूती के साथ 139.00 रुपये, हिंदुस्तान यूनिलीवर 5.31 प्रतिशत की मजबूती के साथ 894.60 रुपये, भारती एयरटेल 4.27 मजबूती के साथ 397.95 रुपये और वेदांता 3.90 प्रतिशत की मजबूती के साथ 218.20 रुपये शामिल हैं.

जिन शेयरों में सर्वाधिक गिरावट दर्ज हुई, उनमें एनटीपीसी 5.49 प्रतिशत की गिरावट के साथ 142.05 रुपये, एक्सिस बैंक 4.49 रुपये की गिरावट के साथ 542.35 रुपये, आईसीआईसीआई बैंक 4.32 रुपये की गिरावट के साथ 316.95 रुपये, टाटा पॉवर 3.56 प्रतिशत के साथ 73.15 रुपये और मारुति सुजुकी 3.41 प्रतिशत के साथ 3,604.85 रुपये शामिल हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!