श्रीलंका: सिरिसेना राष्ट्रपति चुनाव जीते

कोलंबो | एजेंसी: श्रीलंका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति मैत्रीपाला सिरिसेना ने शुक्रवार को कहा कि वह राजनीतिक विरोधियों से बदला नहीं लेंगे. राजपक्षे ने चुनाव में अपनी हार स्वीकार कर ली है और सिरिसेना पोलोन्नारुवा प्रांत स्थित अपने घर से कोलंबो के लिए रवाना हो गए हैं.

उन्होंने कहा कि वह बौद्ध धर्म को बढ़ावा देंगे. श्रीलंका में अधिकांश बहुसंख्यक आबादी बौद्ध है.

मीडिया रपटों के अनुसार, उन्होंने कहा कि वह एक न्यायसंगत और समानता भरे समाज का निर्माण करेंगे और सुशासन देंगे.

इस बीच, राजपक्षे ने अपने श्रीलंका फ्रीडम पार्टी के सांसदों को बताया कि वह पार्टी के अध्यक्ष पद पर बने रहेंगे.

उन्होंने विपक्ष के नेता रानिल विक्रमसिंघे से मुलाकात की और सरकारी आवास से निकलने से पहले उन्हें सत्ता के सरल हस्तांतरण का भरोसा दिलाया.

राजपक्षे ने सिरिसेना से फोन पर बात की और प्रशासन में बदलाव को लेकर उठाए गए कदमों पर चर्चा की.

उन्होंने पार्टी सांसदों से नई सरकार को सहयोग देने को कहा.

उन्होंने वादा किया कि वह इसके पक्ष में नहीं हैं कि नए राष्ट्रपति की सिर्फ आलोचना की जाए, वह उनके कार्यक्रमों का समर्थन करेंगे.

श्रीलंका के नव-निर्वाचित राष्ट्रपति मैत्रीपाला सिरिसेना नए राष्ट्रपति के तौर पर शुक्रवार शाम शपथ लेंगे. उनके प्रवक्ता ने कहा कि सिरिसेना स्थानीय समयानुसार शाम छह बजकर 20 मिनट पर यहां के इंडिपेंडेंस स्क्वायर पर शपथ लेंगे.

राष्ट्रपति पद के लिए गुरुवार को मतदान हुआ था. शुक्रवार को सामने आए नतीजे के शुरुआती रुझानों के बाद ही निवर्तमान राष्ट्रपति महिंदा राजपक्षे ने हार स्वीकार कर ली है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *