स्मृति देश से माफी मांगें: केजरीवाल

हैदराबाद | समाचार डेस्क: केजरीवाल ने खहा है केन्द्रीय मंत्री स्मृति ईरानी देश से माफी मांगे. उन्होंने स्मृति ईरानी पर जातिगत राजनीति का गंदा खेल खेलने का आरोप लगाया है. केजरीवाल ने कहा, “स्मृति ईरानी ने इस मामले में जातिगत राजनीति का गंदा खेल खेलने की कोशिश की. हमारी मांग है कि वह इसके लिए देश से माफी मांगें.” दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने हैदराबाद विश्वविद्यालय के दलित शोध छात्र की खुदकुशी के मामले में गुरुवार को कुलपति को बर्खास्त करने की मांग की. विश्वविद्यालय परिसर में छात्रों को संबोधित करते हुए आम आदमी पार्टी के नेता केजरीवाल ने छात्र रोहित वेमुला की मौत के मामले में ‘जाति की राजनीति करने के लिए’ मानव संसाधन विकास मंत्री स्मृति ईरानी से माफी मांगने को भी कहा.

केजरीवाल ने आंदोलनकारी छात्रों की तालियों के बीच कहा, “कुलपति को तुरंत पद से हटाया जाना चाहिए.” वेमुला की रविवार को खुदकुशी के बाद से छात्र परिसर में लगातार प्रदर्शन कर रहे हैं. वेमुला ने अपने निलंबन से परेशान होकर खुदकुशी की थी.


केजरीवाल ने कहा कि वह कुलपति अप्पा राव को हटाने की मांग को लेकर उनके दफ्तर के बाहर धरने पर बैठने के लिए तैयार थे. लेकिन, छात्रों ने उन्हें ऐसा नहीं करने की सलाह दी.

वेमुला और उसके चार अन्य साथियों को भाजपा के छात्र संगठन अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के छात्र नेता पर हमले के बाद निलंबित किया गया था. वेमुला का वजीफा भी रोक दिया गया था.

मेडिकल रिपोर्ट और विश्वविद्यालय रजिस्ट्रार की तरफ से दाखिल हलफनामे के हवाले से केजरीवाल ने कहा कि एबीवीपी नेता पर हमले की बात गढ़ी गई थी.

केजरीवाल ने खासकर केंद्रीय मंत्री बंडारू दत्तात्रेय को घटना के लिए दोषी बताया. उन्होंने कहा कि दत्तात्रेय ने वेमुला और उसके दोस्तों को ‘राष्ट्रविरोधी, जातिवादी और उग्रवादी’ बताया था. इसी आरोप पर इन्हें निलंबित किया गया था.

केजरीवाल ने कहा, “यह शर्म की बात है कि जिम्मेदार केंद्रीय मंत्री ने तथ्यों को जाने बिना अंबेडकर छात्र संगठन को जातिवादी और राष्ट्र विरोधी बता दिया, जिसका वेमुला सदस्य था.”

केजरीवाल ने कहा कि खेतिहर मजदूर का बेटा वेमुला अपनी अकादमिक प्रतिभा की बदौलत यहां तक पहुंचा था. ऐसे होनहार छात्र का खुदकुशी करना पूरे समाज के लिए शर्म की बात है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!