सुनंदा को जहर दिया गया

नई दिल्ली | एजेंसी: दिल्ली पुलिस ने कहा कि सुनंदा पुष्कर की मौत जहर से हुई थी. दिल्ली के पुलिस आयुक्त बी.एस. बस्सी ने मंगलवार को कहा कि कांग्रेस नेता व पूर्व केंद्रीय मंत्री शशि थरूर की पत्नी सुनंदा पुष्कर ने खुदकुशी नहीं की थी, बल्कि उनकी हत्या हुई थी. 17 जनवरी, 2014 को सुनंदा राष्ट्रीय राजधानी के एक होटल में संदिग्ध हालात में मृत पाई गई थीं. बस्सी ने संवाददाताओं से कहा, “हमें अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान से उनकी अंतिम चिकित्सकीय रिपोर्ट मिली है, जिसके मुताबिक उनकी मौत अप्राकृतिक है.”

उन्होंने कहा, “उनकी मौत जहर से हुई. उन्हें जहर खिलाया गया या उनके शरीर में इंजेक्शन के माध्यम से पहुंचाया गया. ऐसा किसने और क्यों किया, इसकी तहकीकात की जा रही है.” उन्होंने कहा कि एम्स ने 29 दिसंबर को उन्हें रिपार्ट दी थी.


बस्सी ने कहा कि पुष्कर को दी गई जहर की मात्रा का पता नहीं चल पाया है और इसके लिए उनके विसरा को विदेश भेजा जाएगा.

उन्होंने कहा कि हत्या का एक मामला दर्ज किया गया है.

मामले की जांच के लिए एक विशेष जांच दल का गठन किया गया है, जिसका निरीक्षण पुलिस उपायुक्त प्रेमनाथ करेंगे.

यह पूछे जाने पर कि अंतिम रपट आने में एक साल का समय क्यों लगा, बस्सी ने कहा कि अंतरिम रिपोर्ट में जहर की बात सामने आई थी, लेकिन उस समय यह नहीं कहा गया था कि उनकी मौत अप्राकृतिक थी. उन्होंने कहा था कि दवा की ज्यादा मात्रा लेना शरीर में जहर बनने का कारण हो सकता है.

पुलिस प्रमुख ने यह पूछे जाने पर कि क्या शशि थरूर से फिर पूछताछ होगी, उन्होंने कहा, “जो भी संभव होगा हम करेंगे.”

बस्सी ने कहा कि दिल्ली पुलिस ने कई बार एम्स से अंतिम रपट की मांग की थी. अब चूंकि यह हमें मिल गई है, इसलिए प्राथमिकी दर्ज की ली गई है.

उल्लेखनीय है कि 17 जनवरी, 2014 को पुष्कर राष्ट्रीय राजधानी स्थित एक होटल के एक कमरे में मृत पाई गई थीं. उन दिनों उनके घर की कथित तौर पर रंगाई-पुताई हो रही थी, इसलिए वह और थरूर होटल में रह रहे थे. दोनों की शादी दो साल पहले ही हुई थी.

शशि थरूर मनमोहन सिंह सरकार में मानव संसाधन विकास राज्यमंत्री थे.

सुनंदा की अचानक मौत ने सबको चौंका दिया था. उस समय आई पोस्टमार्टम रिपोर्ट में भी शहर में जहर होने की बात कही गई थी और अंदाजा लगाया गया था कि तनाव दूर करने के लिए सुनंदा ने ज्यादा गोलियां खा ली होंगी.

दंडाधिकारी को 20 जनवरी को सौंपी गई पहली पोस्टमार्टम रिपोर्ट के मुताबिक, सुनंदा की मौत दवाओं के अत्यधिक सेवन से हुई थी. लेकिन यह भी कहा गया था कि उनके शरीर पर चोट के दर्जनभर निशान मिले हैं.

जुलाई में सामने आई अंतिम पोस्टमार्टम रिपोर्ट में चोट के निशानों की कुल संख्या 15 बताई गई थी. उन चोट के निशानों में एक इंजेक्शन का भी निशान था.

बाद में एम्स में फॉरेंसिक दल के प्रमुख सुधीर कुमार गुप्ता ने आरोप लगाया था कि सुनंदा की मौत को प्राकृतिक बताने के लिए उन पर दबाव डाला गया था.

एम्स ने हालांकि आरोपों से इनकार किया और गुप्ता को पद से हटा दिया था.

मौत से एक दिन पहले थरूर व सुनंदा ने एक संयुक्त बयान जारी किया था, जिसमें उन्होंने कहा था कि उनके ट्विटर अकाउंट से अवैध रूप से किए गए ट्वीट को लेकर वे परेशान हैं और दोनों का वैवाहिक जीवन सुखमय है और आगे भी ऐसा ही रखना चाहते हैं.

कथित तौर पर सुनंदा द्वारा पाकिस्तानी पत्रकार मेहर तरार को किए गए ट्वीट को लेकर विवादों में आए शशि थरूर और उनकी पत्नी ने बाद में यूटर्न लेते हुए सफाई पेश की थी. ट्वीट में सुनंदा ने आरोप लगाया गया था कि थरूर के पाकिस्तानी पत्रकार के साथ संबंध हैं.

उधर, कांग्रेस ने मंगलवार को कहा कि वह यह अभी स्पष्ट नहीं है कि कांग्रेस नेता शशि थरूर की पत्नी सुनंदा पुष्कर ने आत्महत्या की या उनकी हत्या हुई. पार्टी प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने यहां कहा, “अभी तक यह स्पष्ट नहीं हुआ है कि सुनंदा ने आत्महत्या की या उनकी हत्या हुई.”

उन्होंने कहा कि दिल्ली पुलिस आयुक्त बी.एस.बस्सी ने संवाददाताओं से जो भी कहा, उससे इतना ही स्पष्ट हो पाया है.

One thought on “सुनंदा को जहर दिया गया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!