टी20 विश्वकप: कठिन होगी भारत की राह

ढाका | एजेंसी: आईसीसी टी-20 विश्व कप के फाइनल मुकाबले में रविवार को जब भारत और श्रीलंका एकदूसरे का सामना करने उतरेंगे तो ऐसा पहली बार नहीं होगा कि इस स्तर के टूर्नामेंट में वे पहली बार फाइनल में एकदूसरे का सामना कर रहे हों. दोनों टीमें पिछले आईसीसी विश्व कप-2011 के फाइनल में भी एकदूसरे को चुनौती दे चुके हैं, जिसमें भारत विजयी रहा था.

टी-20 विश्वकप में भारत अब तक एकमात्र ऐसी टीम है जो हारी नहीं है, हालांकि श्रीलंका का प्रदर्शन भी कहीं से कम नहीं आंका जा सकता. टूर्नामेंट में श्रीलंका को अब तक एकमात्र हार इंग्लैंड के हाथों मिली है.

रविवार का फाइनल मैच भारतीय टीम के लिए एक और मायने में महत्वपूर्ण है. भारत यदि फाइनल जीतकर टी-20 चैम्पियन बन जाता है तो एकसाथ आईसीसी विश्वकप, चैम्पियंस ट्रॉफी और टी-20 विश्वकप जीतने वाला वह एकमात्र देश बन जाएगा.

दूसरी ओर श्रीलंका के पास आईसीसी विश्व कप 2007 और 2011 के फाइनल में की गई गलतियों को सुधारने का मौका होगा. इसके अलावा श्रीलंकाई टीम को टी-20 विश्व कप-2012 के फाइनल में वेस्टइंडीज के हाथों और 2009 के टी-20 विश्व कप के फाइनल में पाकिस्तान के हाथों हार झेलनी पड़ी थी.

भारत वहीं आईसीसी टी-20 विश्व कप का पहला संस्करण 2007 में जीतने के बाद दूसरी बार फाइनल मुकाबले में पहुंचा है. यहां तक कि भारतीय टीम पहला संस्करण जीतने के बाद किसी टी-20 विश्व कप के नॉक आउट चरण में भी प्रवेश नहीं कर सकी थी.

सेमीफाइनल मुकाबले में भारतीय टीम के कप्तान महेंद्र सिंह धौनी ने खिलाड़ियों के चयन से लेकर मैच के दौरान कई चौंकाऊ फैसले लिए थे, हालांकि उनके सभी फैसले लगभग सही साबित हुए. और अब देखना है कि फाइनल मुकाबले में श्रीलंका जैसी रन का पीछा करने में माहिर और स्पिन गेंदबाजी विशेषज्ञ टीम के खिलाफ उनकी रणनीति क्या होगी.

दूसरी ओर यह भी देखना रोचक होगा कि एक के बाद एक फाइनल मुकाबले गंवाने वाली श्रीलंकाई टीम रविवार को क्या अपने इस बुरे अतीत से उबर पाती है.

टीमें :

भारत- रोहित शर्मा, अजिंक्य रहाणे, शिखर धवन, विराट कोहली, युवराज सिंह, सुरेश रैना, महेंद्र सिंह धौनी (कप्तान), रविंद्र जडेजा, रविचंद्रन अश्विन, अमित मिश्रा, भुवनेश्वर कुमार, मोहित शर्मा, मोहम्मद शमी, स्टुअर्ट बिन्नी, वरुण एरॉन.

श्रीलंका- दिनेश चांडिमल (कप्तान), कुशल परेरा, तिलकरत्ने दिलशान, महेला जयवर्धने, कुमार संगकारा, लाहिरू थिरिमाने, एंजेलो मैथ्यूज, सीक्यूज प्रसन्ना, थिसारा परेरा, नुवन कुलासेकरा, सचित्रा सेनानायके, लसिथ मलिंगा, रंगना हेराथ, सुरंगा लकमाल, अजंता मेंडिस.

अंपायर- इयान गोल्ड और रिचर्ड केटलबरो (फील्ड अंपायर), रॉड टकर (तीसरे अंपायर), ब्रूस ऑक्सेनफोर्ड (चौथे अंपायर), डेविड बून (मैच रेफरी).

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *