‘Lunch Box’ की थीम अच्छी: गुनीत

मुंबई | मनोरंजन डेस्क: कई देशों के साझे प्रयास से बनी फिल्म ‘लंच बॉक्स’की कहानी अच्छी है इसलिये इसे बाफ्टा के लिये चुना गया है. फिल्म ‘लंच बॉक्स’ के सह-निर्माता गुनीत मोंगा कहते हैं कि ब्रिटिश एकेडमी फिल्म अवार्डस 2015 में गैर अंग्रेजी भाषा की फिल्मों में ‘लंच बॉक्स’ का चुना जाना इस बात को पुख्ता करता है कि गुणवत्ता सामग्री हमेशा फलदायी होती है. निर्देशक रितेश बत्रा की फिल्म ‘लंच बॉक्स’ ब्रिटिश एकेडमी ऑफ फिल्म एंड टेलीविजन आर्ट्स, बाफ्टा में 1990 के बाद चुनी जाने वाली पहली भारतीय फिल्म बन गई है. इससे पहले 1990 में ‘सलाम बांबे’ को बाफ्टा में नामांकन मिला था.

गुनीत ने एक बयान में कहा, “हमें खुशी है कि रितेश पर हमारा भरोसा और फिल्म ‘लंच बॉक्स’ का फल हमें मिल रहा है. इस फिल्म पर हमें गर्व है और विदेशी भाषा श्रेणी में फिल्म का नामांकन इस बात को पुख्ता करता है कि अच्छी विषय वस्तु हमेशा ज्यादा समय तक टिकती है.”

‘लंच बॉक्स’ को बाफ्टा में नामांकन मिलना फिल्म टीम के लिए इसलिए भी खास है, क्योंकि 2013 में फिल्म फेडरेशन ऑफ इंडिया, एफएफआई ने एकेडमी अवार्डस की विदेशी भाषा की श्रेणी में भारतीय प्रवष्टि के तौर पर ‘लंच बॉक्स’ और ‘द गुड रोड’ के बीच गुजराती फिल्म ‘द गुड रोड’ को चुना था.

कई फिल्म निर्माण कंपनियों जिनमें डीएआर मोशन पिक्चर्स, यूटीवी मोशन पिक्चर्स, धर्मा प्रोडक्शंस, सिख्या एंटरटेंमेंट, नेशनल फिल्म डेवलपमेंट कार्पोरेशन इंडिया, आरओएच फिल्म्स जर्मनी, एएसएपी फिल्म्स फ्रांस और सिने मोजैक अमरीका के साझे प्रयास से बनी ‘लंच बॉक्स’ में अभिनेता इरफान खान और अभिनेत्री निमरत कौर ने मुख्य भूमिका निभाई है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *