तीसरे चरण में 12 करोड़ ने किया मतदान

नई दिल्ली | एजेंसी: देश के 11 राज्यों और 3 केंद्रशासित प्रदेशों में गुरुवार को लोकसभा चुनाव के तहत तीसरे चरण के मतदान में करीब 12 करोड़ मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया.

लोकसभा के 543 सदस्यों में से इस चरण में 91 सांसदों के चुनाव के लिए मतदान कराया गया है. इसी दौर में राष्ट्रीय राजधानी की सभी सात सीटों के लिए मतदान हुआ है.

11 घंटे चलने वाली मतदान प्रक्रिया के लिए सृजित 140,850 मतदान केंद्रों पर सुबह 7 बजे मतदान शुरू होने के साथ ही सभी सामाजिक और आर्थिक पृष्ठ भूमि के पुरुष और महिला मतदाताओं की भीड़ उमड़ पड़ी.

शाम में निर्वाचन उपायुक्त विनोद जुत्सी ने संवाददाताओं को बताया कि पूरी प्रकिया में हजारों कर्मचारी और सुरक्षाकर्मी शामिल हुए और मतदान आम तौर पर शांतिपूर्ण रहा.

इस चरण में करीब 63 प्रतिशत मतदान हुआ.

केरल में 73 प्रतिशत मतदान हुआ. राज्य में सभी 20 सीटों के लिए मतदान कराया गया है. अधिकांश राज्यों में 2009 के मुकाबले मतदान का प्रतिशत बढ़ने की उम्मीद है.

शहर दर शहर कामकाजी और मध्यम वर्ग के मतदाताओं में भरपूर उत्साह देखा गया. कुछ स्थानों पर पुरुषों और महिलाओं की सर्पाकार कतार मतदान केंद्र बनाए गए स्कूल भवन के बाहर तक लगी हुई थी.

मतदान कार्य में जुटे कर्मचारी मतदाताओं की पहचान की जांच करने और उंगली पर स्याही लगाने में व्यस्त रहे.

नौ चरणों वाली मतदान प्रक्रिया यद्यपि 7 अप्रैल से ही शुरू हो चुकी है लेकिन पहले दो चरणों में पूर्वोत्तर के केवल 13 क्षेत्रों में मतदान कराया गया है. इस क्षेत्र में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को मुकाबले में नहीं माना जा रहा है.

मतदान का यह दौर इसलिए भी महत्वपूर्ण माना जा रहा है क्योंकि इस दौर में केरल, दिल्ली और हरियाणा जैसे राज्यों में भी मतदान हो रहा है और 2009 के चुनाव में यहां भाजपा को एक भी सीट नहीं मिल पाई थी.

इसी क्षेत्र में आक्रामक भाजपा का रथ रोकने के लिए कांग्रेस को पिछली बार मिली 50 से ज्यादा सीटें कायम रखनी होगी.

तीसरे चरण का मतदान आम आदमी पार्टी, समाजवादी पार्टी, बहुजन समाज पार्टी, शिव सेना, एमएनएस, वामपंथी दलों और जनता दल युनाइटेड के लिए भी महत्वपूर्ण है.

दिल्ली में पूरे दिन तीव्र मतदान देखा गया. दिल्ली के मुख्य निर्वाची अधिकारी विजय देव ने भरपूर मतदान का श्रेय लोगों के बीच मतदान की जागरूकता पैदा करने के लिए किए गए प्रचार को दिया है.

चुनाव आयोग ने कहा है कि बिहार को छोड़ शेष जगहों पर मतदान शांतिपूर्ण रहा है.

बिहार के मुंगेर जिले में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के दो जवान नक्सलियों द्वारा बिछाई गई बारूदी सुरंग की चपेट में आने से शहीद हो गए. हमले के समय जवान पड़ोसी जमुई जिला जा रहे थे. नक्सलियों ने लखीसराय जिले में एक स्कूल को उड़ा दिया.

चुनाव आयोग ने बिहार के 22 मतदान केंद्रों पर फिर से मतदान कराने का आदेश दिया है. गुरुवार को जिन क्षेत्रों में मतदान हुआ है उनमें 1,414 प्रत्याशी मैदान में हैं.

इस चरण में केरल की 20 सीटों, उत्तर प्रदेश, हरियाणा, महाराष्ट्र और ओडिशा में 10-10 सीटों, मध्य प्रदेश में 9 सीटों, दिल्ली की सभी सात सीटों, बिहार की छह सीटों, झारखंड की चार सीटों और छत्तीसगढ़, जम्मू, चंडीगढ़, लक्षद्वीप और अंडमान एवं निकोबार द्वीप समूह की एक-एक सीट पर मतदान कराया गया है.

केवल छत्तीसगढ़ के बस्तर में महज 51 प्रतिशत मतदान हुआ. यहां नक्सलियों ने मतदान का बहिस्कार करने की अपील की थी और भय दिखाकर लोगों को घरों में कैद रहने के लिए मजबूर किया.

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, उनके पुत्र और पार्टी उपाध्यक्ष राहुल गांधी और आम आदमी पार्टी (आप) के नेता अरविंद केजरीवाल ने अलग अलग केंद्रों पर मतदान किया. भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के पूर्व अध्यक्ष नितिन गडकरी ने नागपुर में मतदान किया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *