सुनील को चाहिये आपकी मदद

आप मुझे बचा सकते हैं
रायपुर | रविंद्र सिंह क्षत्री: 17 वर्षीय सुनील पुरी 5 जनवरी की रात को अपने बड़े भाई के साथ अपने घर हिर्री माइंस से बिलासपुर जा रहे थे. लेकिन मुख्य मार्ग पर सड़क पार करने के चक्कर में एक अजनबी व्यक्ति इनकी गाड़ी के सामने आ गया और गाड़ी का संतुलन बिगड़ गया और दोनों भाई सड़क की डिवाइडर से जा टकराए. इस दुर्घटना में पीछे बैठे सुनील को सबसे ज्यादा चोट लगी. मौके पर उपस्थित लोगों ने एम्बुलेंस से इन्हें पहले सिम्स हॉस्पिटल पहुंचाया, जहां इनकी गंभीर हालत को देखते हुये बिलासपुर शहर के व्यापार विहार स्थित महादेव सुपर स्पेसिलिटी हॉस्पिटल में रिफर कर दिया गया. तब से वहाँ के आईसीयू में सुनील का इलाज जारी है.

इस युवक का इलाज कर रहे डॉ आशुतोष तिवारी ने बताया कि सर में गहरी अंदरूनी चोट लगने की वजह से दिमाग में खून का थक्का जम गया है, जिसे दवाइयों के सहारे ठीक करने की कोशिश की जा रही है, पर अगर इसका असर नहीं हुआ तो न्यूरो सर्जरी की ज़रुरत पड़ सकती है.


इस युवक का परिवार सुनील को हॉस्पिटल में भर्ती करने के ठीक अगले ही दिन से डिस्चार्ज करने पर अड़ गया था. कारण पूछने पर पता चला कि परिवार आर्थिक रूप से इलाज कराने की स्थिति में नहीं है. पर महादेव हॉस्पिटल के संचालक डॉ आशुतोष तिवारी ने इस परिवार को यकीन दिलाते हुए यह वादा किया कि पैसों की कमी के चलते इलाज में कोई भी कमी नहीं आने दी जायेगी और यह युवक स्वस्थ होकर अपने घर जाएगा. युवक की माँ और बड़े भाई से बात करें तो उनकी आंखों से आंसू झरने लग जाते हैं.

मैंने अपने कुछ सहयोगियों और अग्रज मित्रों से सुनील की मदद की अपील की थी. संजीव जौहरी जी ने तत्काल इस युवक के लिए 5000 रूपये की राशि प्रदान की है. सुनील के इलाज में लगभग पचास हजार रुपयों के आसपास खर्च होने की सम्भावना है.

अगर आप छोटी-सी मदद कर सकें तो सुनील की जान बच सकती है और वे स्वस्थ हो कर अपने परिवार के बीच लौट सकते हैं. सुनील के बड़े भाई के बैंक खाते में अपनी सहयोग राशि जमा कर सकते हैं.

Sanit Poori
Account: 20152706273
State Bank Of india, chhatauna Branch, Bilaspur, Chhattisgarh
IFSC Code- SBIN0030302
Mo 9993815626

अधिक जानकारी के लिए आप मुझसे भी संपर्क कर सकते हैं. मेरा नंबर है-7415191234
*लेखक सुमित फाउंडेशन जीवनदीप से जुड़े हुये हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!