गाजा में सोते बच्चों की हत्या शर्मनाक

जेरूसलम | एजेंसी: फिलिस्तीनियों के लिए संयुक्त राष्ट्र राहत एवं कार्य एजेंसी ने इजरायल द्वारा शरणार्थियों पर किए गए हमले की बुधवार को आलोचना की है. संयुक्त राष्ट्र राहत एवं कार्य एजेंसी ने कहा कि गाजा में संयुक्त राष्ट्र के शरण स्थलों में सोते हुए बच्चों की हत्या ‘इजरायली सेना द्वारा अंतर्राष्ट्रीय कानून का गंभीर उल्लंघन’ और एक वैश्विक शर्म है.

संरा एजेंसी के आयुक्त जनरल पिएरे क्राहेन्बुहल ने एक बयान में कहा है, “कल रात गाजा में संयुक्त राष्ट्र के एक शरणार्थी शिविर में भूतल पर बच्चे अपने माता-पिता के साथ सोए हुए थे और इजरायली सेना ने उन्हें मार दिया.”

उन्होंने कहा, “बच्चे सोते हुए मारे गए, यह सब हम सभी के सामने हुआ, यह वैश्विक शर्म है. आज दुनिया कलंकित होकर खड़ी है.”

संरा एजेंसी के आयुक्त जनरल ने कहा कि जबालिया इलिमेंटरी गर्ल्स स्कूल में शरणार्थियों के लिए शिविर लगाए गए हैं और इस बारे में इजरायली सेना को भी सूचित किया गया है लेकिन इसके बावजूद यहां हमले किए गए.

उन्होंने कहा कि हमने स्कूल का दौरा का किया और हमले के संबंध में सबूत जुटाए. हमारा प्रारंभिक निष्कर्ष है कि कि इजरायली आर्टलरी ने स्कूल को निशाना बनाया जहां 3300 शरणार्थी रह रहे हैं.

उल्लेखनीय है कि इजरायल की ओर से बुधवार सुबह गाजा पट्टी के उत्तरी शहर जबालिया में गर्ल्स स्कूल पर किए गए हमले में 13 फिलिस्तीनी नागरिकों की मौत हो गई और कई घायल हो गए. इस स्कूल में विस्थापितों ने शरण ली थी. इजरायल के हमले में गाजा में अब तक 1,302 लोगों की मौत हो चुकी है.


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *