लाठीचार्ज में राजबब्बर घायल

लखनऊ | समाचार डेस्क: उत्तर प्रदेश सरकार की नाकामियों को लेकर सोमवार को कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने लखनऊ में जोरदार प्रदर्शन किया. विधानसभा की ओर बढ़ रहे प्रदर्शनकारियों पर पुलिस ने लाठीचार्ज किया, जिसमें कई नेता घायल हो गए. प्रदर्शनकारी गोमती नदी तट पर स्थित लक्ष्मण मेला मैदान से विधानसभा की ओर बढ़ रहे थे. पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को रोकने की कोशिश की, लेकिन नाकाम रही. इसके बाद पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को तितर-बितर करने के लिए लाठीचार्ज किया, जिसमें कई वरिष्ठ नेता घायल हो गए.

राज्यसभा सांसद राजबब्बर और लखनऊ से विधायक रीता बहुगुणा जोशी सहित सैकड़ों कार्यकर्ताओं ने पुलिस के इस रवैये के खिलाफ गिरफ्तारी भी दी.


कांग्रेस कार्यकर्ता पुलिस लाठीचार्ज के खिलाफ निशातगंज पुल पर धरने पर बैठक गए. कांग्रेस कार्यकर्ता अपनी 15 सूत्री मांगों को लेकर प्रदर्शन कर रहे थे.

प्रदर्शनकारियों को तितर-बितर करने के लिए पुलिस ने पहले पानी की बौछारें की और फिर लाठीचार्ज किया. जवाब में कांग्रेस के कुछ कार्यकर्ताओं ने पुलिस पर पथराव भी किया.

पुलिस लाठीचार्ज में पूर्व केंद्रीय मंत्री प्रदीप जैन आदित्य और प्रदेश अध्यक्ष निर्मल खत्री, राज बब्बर सहित दो दर्जन से अधिक लोग चोटिल हो गए हैं. सभी को प्राथमिक उपचार के लिए अस्पताल ले जाया गया है.

गिरफ्तारी की जिद पर अड़े प्रदर्शनकारियों के लिए पुलिस ने बस से सवारियां उतार कर उन्हें पुलिस लाइन भेजा.

कांग्रेस के सांसद राज बब्बर ने कहा, “उप्र सरकार सांप्रदायिक शक्तियों के साथ मिलकर कांग्रेस के विरोध को कुचलने का काम कर रही है. सांप्रदायिक शक्तियों और राज्य सरकार के बीच सांठ-गांठ आज उजागर हो गया है.”

पूर्व केंद्रीय मंत्री श्रीप्रकाश जायसवाल ने कहा, “उप्र सरकार किसानों और व्यापारियों के खिलाफ काम कर रही है. कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने इसके खिलाफ आवाज उठाने की कोशिश की है. सरकार जनता की आवाज दबाना चाहती है.”

इससे पूर्व कांग्रेस महासचिव मधुसूदन मिस्त्री तथा प्रदेश अध्यक्ष निर्मल खत्री की मौजूदगी से उत्साहित कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने बारिश की परवाह किए बगैर राज्य सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की.

प्रदर्शनकारी विधानभा के सामने मुख्यमंत्री का पुतला फूंकने जा रहे थे, लेकिन पुलिस ने उन्हें कामयाब नहीं होने दिया.

प्रदेश की ध्वस्त कानून-व्यवस्था और नोएडा के मुख्य अभियंता यादव सिंह के मामले में भ्रष्टाचार पर पर्दा डालने के प्रयास सहित प्रदेश में दलितों और महिलाओं पर बढ़ रहे अत्याचार तथा आपराधिक घटनाओं को लेकर कांग्रेसी अधिक मुखर दिखे.

कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष निर्मल खत्री ने कहा, “बिजली कटौती और सरकारी भर्तियों में घोटाले पर सरकार पूरी तरह मौन है. कानून-व्यवस्था ध्वस्त हो चुकी है. महिला उत्पीड़न को लेकर सरकार कोई कदम नहीं उठा रही है. कांग्रेस इसे बर्दाश्त नही करेगी.”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!