अमरीका ने शुरु किया सीमित हमला!

बगदाद | समाचार डेस्क: अमरीका ने अपने नागरिकों की सुरक्षा के लिये इराक पर हमला बोल दिया है. गुरुवार को राष्ट्रपति ओबामा ने अमरीकी केन्द्रीय कमांड को इराक के सुन्नी चरमपंथियों पर हवाई हमला करने का आदेश दे दिया. अमरीकी हमला एफ-18 लड़ाकू विमानों के द्वारा किया गया है.

पेंटागन के अनुसार दो एफ-18 विमानों ने 500 किलो विस्फोटकों के साथ उड़ान भरी तथा इराकी चरमपंथियों के ठिकानें पर हमला कर दिया है. अमरीकी विमानों का निशाना सुन्नी चरमपंथियों के भारी हथियारों पर है.


गौरतलब है कि अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने इससे पहले कहा था कि उन्होंने आवश्यकता पड़ने पर इस्लामिक स्टेट आतंकवादियों के खिलाफ हवाई हमले करने की मंजूरी दे दी है.

इस्लामिक स्टेट आतंकवादियों ने इराक में सुन्नी बहुल क्षेत्रों पर कब्जा जमाने के बाद कुर्दिश क्षेत्रों की तरफ भी बढ़त बना ली है और देश के सबसे बड़े बांध पर भी कब्जा कर लिया है.

ओबामा ने कहा है कि उन्होंने अमरीकी सेना को निर्देश दिया है यदि आतंकवादी अमरीकी नागरिकों और वहां मौजूद सैन्यकर्मियों के लिए खतरा बन रहे हों तो उस दशा में उन पर हमला किया जाए.

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने इस्लामिक स्टेट के द्वारा हमले की निंदा की है और हम लों के कारण हजारों की संख्या में इराकियों के विस्थापन पर ‘गहरी चिंता’ जताई है.

उत्तरी इराक में कुर्दिश क्षेत्र तक पहुंचने के प्रयास में हजारों शरणार्थी पहाड़ों की तरफ भागे, लेकिन पहाड़ों और कुर्द क्षेत्र के बीच सैनिक गतिविधि के कारण फंस गए हैं और भोजन-पानी के लिए तरस रहे हैं.

जब से इराक के सुन्नी चरमपंथियों ने वहां के महत्वपूर्ण तेल के कुओं तथा शहरों पर कब्जा किया था तभी से यह कयास लगाये जा रहे थे अमरीका, इराकी आतंकवादियों के खिलाफ सीमित तौर पर युद्ध की घोषणा कर सकता है. सीमित युद्ध का मतलब है कि कुछेक ठिकानों पर ही हमला किया जायेगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!