US: ट्रंप व हिलेरी की जीत जारी

वाशिंगटन | समाचार डेस्क: अमरीकी राष्ट्रपति चुनाव के लिये अपनी-अपनी पार्टियों से उम्मीदवार बनने की जंग में डोनाल्ड ट्रंप तथा हिलेरी क्लिंटन की जीत जारी है. अमरीका में होने वाले राष्ट्रपति चुनाव में रिपब्लिकन पार्टी की ओर से उम्मीदवारी की दौड़ में आगे चल रहे डोनाल्ड ट्रंप ने तीन और बड़ी जीत हासिल की है, जबकि एक जगह मुकाबला कांटे का रहा. इस बीच, रिपब्लिकन दावेदार मार्को रुबियो ने अपने गृह राज्य फ्लोरिडा में मिली हार के बाद खुद को इस दौड़ से अलग कर लिया है.

वहीं, डेमोक्रेटिक पार्टी की ओर से उम्मीदवारी की दौड़ में आगे चल रहीं हिलेरी क्लिंटन को भी फ्लोरिडा और नॉर्थ कैरोलिना में जीत मिली. ओहियो में भी उन्हें अपने प्रतिद्वंद्वी बर्नी सैंडर्स के मुकाबले महत्वपूर्ण जीत मिली.

ट्रंप ने फ्लोरिडा, नॉर्थ कैरोलिना तथा इलिनोइस राज्य के प्राइमरी में जीत हासिल की, जबकि मिसौरी में प्रतिद्वंद्वी टेड क्रूज से उन्हें कांटे की टक्कर मिली.

इस बीच, ओहियो में वहां के गवर्नर जॉन कैसिश से हार के कारण ट्रंप के चुनावी अभियान को थोड़ा झटका लगा है.

उल्लेखनीय है कि राष्ट्रपति चुनाव में रिपब्लिकन पार्टी का उम्मीदवार बनने के लिए किसी भी दावेदार को 1,237 प्रतिनधियों की आवश्यकता है, जबकि ट्रंप के पास इस समय 619 प्रतिनिधि हैं, वहीं उनके प्रतिद्वंद्वियों क्रूज के पास 394, रुबियो के पास 167 और कैसिश के पास 136 प्रतिनिधि हैं.

ट्रंप ने जीत पर खुशी जताते हुए कहा, “बहुत अच्छी शाम रही. लोगों में नाराजगी है, बहुत नाराजगी है. हमें अपनी पार्टी को साथ लाने और एकजुट करने की आवश्यकता है.”

वहीं, रुबियो ने अपनी हार स्वीकार करते हुए एक बार फिर ट्रंप की नीतियों को लेकर चेताया. उन्होंने कहा, “ट्रंप की विभाजनकारी राजनीति अमरीका को एक ‘खंडित राष्ट्र’ बना देगी.”

ट्रंप ने हालांकि फ्लोरिडा से सीनेटर रुबियो को मैदान में उन्हें टक्कर देने के लिए बधाई दी. उन्होंने कहा, “वह स्मार्ट हैं, उन्होंने अच्छा मुकाबला दिया. उनका भविष्य बेहतर है.”

उधर, डेमोक्रेटिक पार्टी में हिलेरी ने फ्लोरिडा और ओहियो प्राइमरी में जीत दर्ज की है. उन्हें नॉर्थ कैरोलिना में भी जीत हासिल हुई, जिसके साथ ही उन्होंने दक्षिणी राज्यों में लगभग ‘क्लीन-स्वीप’ कर लिया है. इन राज्यों में उन्हें अफ्रीकी मूल के अमेरिकियों का भरपूर समर्थन हासिल है.

हिलेरी ने जीत के बाद फ्लोरिडा के वेस्ट पाम बीच पर अपने संबोधन में कहा, “हम डेमोक्रेटिक उम्मीदवारी सुनिश्चित करने और नवंबर में होने वाले चुनाव को जीतने की दिशा में आगे बढ़ रहे हैं.”

वहीं, हार के बावजूद सैंडर्स ने प्रभावी भाषण दिया और राजनीति में धन के बढ़ते दबदबे को लेकर चेताया. उन्होंने कहा कि अरबपतियों को अपने हिस्से का भुगतान करना पड़ेगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *