सीरिया के पीछे पड़ा अमरीका

वाशिंगटन । एजेंसी: अब अमरीकी प्रशासन सीरिया के पीछे पड़ गया है. बहाना फिर से रासायनिक हथियारो का बनाया जा रहा है. अमरीकी प्रशासन ने आरोप लगाया है कि सीरिया ने रासायनिक हमलों के सबूत नष्ट करने के लिये वहा पर गोला बारी की है तथा ऐसा उन्होनें संयुक्त राष्ट्र संघ के जांच दल के लौटने के बाद किया है.

बताया जा रहा है कि राष्ट्रपति बराक ओबामा सीरिया के खिलाफ सीमित सैन्य कार्यवाही पर विचार कर रहें हैं. व्हाइट हाउस से बताया गया है कि इस पर अभी अंतिम फैसला नही लिया गया है परन्तु अमेरिकी नौसेना के युद्धपोतों को हमले के लिए तैनात कर दिया गया है.

मास्कों में सीरिया के राष्ट्रपति बसर अल असद ने अमरीका को चेतावनी देते हुए कहा है कि यदि वह ऐसा करता है तो उसके हाथ असफलता ही लगेगी. यीरिया के राष्ट्रपति ने कहा है कि सीरिया को पश्चिमी देशो के हाथ का कठपुतली नही बनाया जा सकता है. पश्चिमी देशों विशेषकर अमरीका को दूसरे देशों के मामले में दखल देने से बाज आना चाहिये.

सीरिया के राष्ट्रपति बसर अल असद ने सीरियाई सेना द्वारा रासायनिक हथियारों के प्रयोग का खंडन किया है. असद ने कहा, ”ऐसे आरोप राजनीतिक हैं और उनका कारण सरकारी सेनाओं की आतंकवादियों पर लगातार विजयों की श्रृंखला है.”असद ने कहा, ”हम पर आरोप है कि कथित बंदूकधारियों के कब्जे वाले इलाके में सेना ने रासायनिक हथियारों का उपयोग किया है.”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *