साहसी दुल्हनें!!

लखनऊ | समाचार डेस्क: उत्तर प्रदेश की दो दुल्हनों ने लड़कियों के लिये मिसाल कायम कर दी है. एक ने धोखेबाज प्रेमी को मजा चखाया तो दूसरी ने बूढ़े दुल्हें को रुखसत कर दिया. एक प्रेमी ने प्रेमिका से सात जन्मों तक साथ निभाने का वादा किया था, मगर पिता के कहने पर शादी से इनकार कर दिया. युवती ने प्रेमी के इस फैसले पर रोने-धोने के बजाय ‘मर्दानी’ के अंदाज में खुद बारात लेकर प्रेमी के दरवाजे पहुंच गई.

युवती का यह अंदाज देखकर प्रेमी के गांव वालों ने उसका साथ दिया. प्रेमी के पिता को आखिरकार इस विवाह के लिए मानना पड़ा. गुरुवार रात दोनों का पूरे विधि-विधान से विवाह हो गया.


जूड़नपुर गांव के लोगों ने बताया कि युवक अशोक और इसी इलाके में रहने वाली आरती एक दूसरे के काफी नजदीक आ गए थे. दोनों ने शादी करने का फैसला ले लिया था. जब अशोक की प्रेम कहानी और शादी के फैसले की खबर पिता जीउत राजभर को मिली तो वह आग बबूला हो गए. उन्होंने इस रिश्ते को मंजूर करने से इकार कर दिया.

अशोक ने अपने पिता का फैसला आरती को सुनाया और कहा कि उसके पिता शादी के लिए कभी नहीं मानेंगे, इसलिए वह अब दूरी बना ले. मगर आरती ने अपने प्यार को जीत दिलाने की ठान ली. उसने मर्दानी के अंदाज में अपने पिता महातम राजभर के साथ बरात लेकर अशोक के गांव जूड़नपुर पहुंच गई. घोड़ी पर दूल्हे के बजाय दुल्हन को देख खबर समूचे गांव में फैल गई. अनूठी बारात को देखने सैकड़ों की भीड़ जुट गई.

पिता को मना लिए जाने के बाद अशोक भी दूल्हा बनकर साथियों सहित गांव के मंदिर में पहुंचा. उसने आरती की मांग में सिंदूर भरा. लोगों के समझाने पर अशोक के पिता भी आशीर्वाद देने वहां पहुंचे. इसके बाद भीड़ के बीच जयमाल की रस्म पूरी हुई.

दसरी दुल्हन भी उत्तर प्रदेश की ही रहने वाली है. उत्तर प्रदेश के फतेहपुर जिले के बिंदकी कोतवाली क्षेत्र के कोरइयां गांव से एक बारात के बैरंग लौटने के चौबीस घंटे भी नहीं बीते थे कि गौसपुर गांव में जयमाला के समय उम्रदराज दूल्हा देख दुल्हन भड़क गई और जयमाल की रस्म होने के बावजूद शादी से इनकार कर दिया. पंचायत और पुलिस के हस्तक्षेप पर भी बात नहीं बनी, आखिरकार बारात बैरंग लौट गई.

कानपुर जिले के परदेवनपुर लालबंगला से दीपक बारात लेकर गौसपुर आया था. जयमाला के वक्त दुल्हन ने जब वर को देखा तो उसके तमाम सपने टूट गए. किसी तरह मंच पर जयमाल की रस्म पूरी हुई, लेकिन बाद में लड़की ने हिम्मत जुटाकर शादी से साफ मना कर दिया. उसका कहना था कि अपने से दूने उम्र के व्यक्ति के साथ शादी नहीं करेगी.

पंचायत बैठी, पर बात नहीं बनी तो पुलिस बुलाई गई, लेकिन लड़की के तेवर देखकर पुलिस भी कुछ नहीं कर सकी. आखिरकार बारात बगैर दुल्हन के लौट गई.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!