यूपी में मां-बेटी से गैंग रेप

बुलंदशहर | समाचार डेस्क: उत्तर प्रदेश में गैंग रेप के बाद भाजपा तथा बसपा ने मुख्यमंत्री पर हमला तेज कर दिया है. भाजपा ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के इस्तीफे की मांग की है. बसपा की मायावता ने सवाल किया है राज्य के मुखिया बतायें कैसे मां-बेटी की अस्मत को लौटा सकते हैं. जनपद बुलंदशहर में कोतवाली देहात क्षेत्र में हाईवे पर मां-बेटी से सामूहिक दुष्कर्म मामले में पुलिस ने मुख्य संदिग्ध व चार बावरियों समेत 18 लोगों को हिरासत में लिया है.

वहीं इस घटना को मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने गंभीरता से लिया है और अपनी नाराजगी जाहिर करते हुए डीजीपी, प्रमुख सचिव गृह और आला अधिकारियों को तलब किया. साथ ही आसपास के दोनों थानेदारों पर कार्यवाही करने के निर्देश दिए.


मुख्यमंत्री ने आरोपियों को 24 घंटें में गिरफ्तार करने के निर्देश दिए हैं. उधर, शासन स्तर से सिटी हिमांशु गौरव का तबादला मेरठ कर दिया गया है.

इस घटना के बाद बसपा की मायावती ने कहा है कि पश्चिमी उत्तर प्रदेश में सफर के दौरान बुलंदशहर राष्ट्रीय राजमार्ग पर, नोएडा के एक परिवार को लूटने व मां-बेटी के साथ सामूहिक दुष्कर्म जैसी वहशियाना घटनाओं से बद-से-बदतर होती जा रही उप्र की कानून-व्यवस्था की स्थिति का पता चलता है.

मायावती ने कहा कि अब बुलंदशहर की इस दर्दनाक व शर्मनाक घटना के बारे में सपा सरकार व इसके मुखिया जनता को यह बताएं कि वे पीड़ित मां-बेटी की अस्मत को कैसे लौटा सकते हैं? क्या इस प्रकार की घटनाओं को भी वे पैसे से तौलेंगे?

उधर, भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य ने बुलंदशहर से दो किलोमीटर दूर हाईवे पर मां-बेटी के साथ हुई दरिंदगी मामले में मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के इस्तीफे की मांग की. मौर्य के मुताबिक, यह कृत्य प्रदेश में ‘जंगलराज’ की जीती-जागती मिसाल है.

मौर्य ने कहा कि इस घटना का सबसे दुर्भाग्यपूर्ण पहलू यह है कि मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की पुलिस, शुरू में तो इस दर्दनाक घटना को दबाने में लगी रही, बाद में जनदबाव और मीडिया में खबर आने पर पीड़ित को मेडिकल परीक्षण के लिए भेजा गया.

डीआईजी (रेंज) लक्ष्मी सिंह के मुताबिक, कई लोगों के खिलाफ निलंबन की कार्यवाही की गई है.

गौरतलब है कि शुक्रवार रात एनएच 91 पर कोतवाली देहात क्षेत्र में दोस्तपुर गांव के निकट कार में किसी चीज के टकराने की आवाज आई. इस पर इन्होंने कार को रोक लिया. जैसे ही कार रुकी, तभी कार सवार 6-7 बदमाशों ने इनकी कार के आगे अपनी कार लगाकर हथियारों के बल पर इन्हें बंधक बना लिया. बदमाश कार को हाईवे पर बने अवैध कट से दूसरी तरफ दोस्तपुर गांव के कच्चे रास्ते पर ले गए.

दोनों भाई, एक भाई की पत्नी और एक भाई के पुत्र को एक खेत में बंधक बना लिया. जबकि दूसरे भाई की पत्नी और उसकी 15 वर्षीय पुत्री को ज्वार के अलग-अलग खेतों में ले गए. वहां पर दोनों से सामूहिक दुष्कर्म किया.

सुबह करीब चार बजे बदमाश इन सभी से नकदी और जेवरात लूटकर मौके से फरार हो गए. पीड़ितों ने कंट्रोल रूम पर घटना की सूचना दी. आनन-फानन में एसएसपी वैभव कृष्ण मौके पर पहुंचे. पीड़ित मां-बेटी को मेडिकल परीक्षण के लिए जिला महिला अस्पताल भेजा.

एसएसपी वैभव कृष्ण ने बताया कि मां-बेटी से गैंगरेप और डकैती की धाराओं में कोतवाली देहात पर रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है. घटना के खुलासे को एसपी (सिटी), एसपी (देहात) और एसपी (क्राइम) के नेतृत्व में तीन टीमों का गठन किया गया है.

जल्द ही घटना का खुलासा कर दिया जाएगा. उधर, मेरठ जोन के आईजी सुजीत पांडेय ने हाईवे पर गश्त बढ़ाने के निर्देश दिए हैं. वहीं, मुख्यमंत्री के आदेश पर डीजीपी सैय्यद जावीद अहमद और प्रमुख सचिव गृह देवाशीष पंडा ने राजकीय हेलीकॉप्टर से बुलंदशहर का दौरा किया.

मुख्यमंत्री अखिलेश ने आरोपियों को 24 घंटे में गिरफ्तार करने के निर्देश दिए हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!