हरीश रावत ने बुलाई कैबिनेट

देहरादून | समाचार डेस्क: उत्तराखंड के सीएम हरीश रावत ने शनिवार को कैबिनेट की आपात बैठक बुलाई. रावत विधानसभा अध्यक्ष से बैठक के बाद अब कैबिनेट सहयोगियों से ताजा सियासी संकट से उबरने के उपायों पर मंथन करेंगे. इस बैठक के बाद रावत राज्यपाल कृष्णकांत पाल से मिलने राजभवन जाएंगे. इस बीच मुख्यमंत्री के कैंट स्थित आधिकारिक आवास में रावत समर्थक विधायकों और मंत्रियों की बैठक चल रही है.

कांग्रेस को समर्थन दे रहे पीडीएफ के चारों मंत्री भी वहां पहुंच चुके हैं. पीडीएफ ने कहा है कि वह पूरी तरह सरकार के साथ हैं.


इस बीच मीडिया से बात करते हुए हरीश रावत ने कहा कि 4-5 बागी विधायकों से बातचीत जारी है और उन्हें दोबारा साथ आने का मौका दिया जा सकता है, अगर वह अपनी गलतियों को स्वीकार कर लें.

उल्लेखनीय है कि उत्तराखंड में कांग्रेस की हरीश रावत सरकार पर संकट गहराया हुआ है. यह संकट उनके अपने विधायकों ने ही खड़ा किया है. सरकार के एक वरिष्ठ मंत्री ने शुक्रवार देर रात अपने पद से इस्तीफा भी दे दिया.

सूत्रों के मुताबिक, वित्त विधेयक पर कांग्रेस के नौ विधायकों ने अपनी सरकार के विरोध में और भारतीय जनता पार्टी के साथ खड़े दिखाई दिए. इस संकट के बीच अगले पल में क्या होगा, यह बता पाना मुश्किल हैं.

हरीश सरकार में मंत्री हरक सिंह रावत ने शुक्रवार देर रात मंत्रिमंडल से इस्तीफा दे दिया. उन्होंने राज्यपाल के. के. पॉल से मुलाकात कर सरकार को बर्खास्त करने की मांग की.

हरक सिंह का कहना है कि हरीश रावत के अपने लोग सरकार में हावी हैं. उन्होंने दावा किया कि नौ कांग्रेस विधायक भाजपा के साथ हैं.

बागी विधायकों के बारे में पूछे जाने पर कांग्रेस नेतृत्व आश्वस्त दिखाई दिया. कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष किशोर उपाध्याय ने कहा कि उन्हें पार्टी विधायकों पर पूरा भरोसा है और किसी के भी सरकार के खिलाफ जाने का सवाल ही नहीं उठता.

उधर, भाजपा के उपाध्यक्ष और पार्टी विधायक पुष्कर सिंह धामी ने सरकार गिराने की रणनीति बनाने से इनकार किया है. धामी ने कहा कि सरकार अपने ही अंतर्कलह से गिर जाएगी. भाजपा को ऐसी किसी साजिश की जरूरत नहीं है.

सूत्रों के मुताबिक, कांग्रेस के नौ विधायकों में हरक सिंह रावत, उमेश शर्मा काउ, सुबोध उनियाल, कुंवर प्रणव सिंह, भाजपा नेता सतपाल महाराज की पत्नी अमृता रावत, शैलेन्द्र सिंघल, विजय बहुगुणा, शैला रानी रावत और प्रदीप बत्रा शामिल हैं.

उधर भारतीय जनता पार्टी के 26 और कांग्रेस के नौ बागी विधायक शनिवार को दिल्ली में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह से मुलाकात करेंगे. सूत्रों के मुताबिक, ये विधायक दिल्ली के लीला पैलेस होटल में ठहरे हैं. इनमें भाजपा के कुछ बड़े नेता भी हैं.

भाजपा के सूत्रों के अनुसार, शाम को ये विधायक, शाह के साथ-साथ राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी से भी मुलाकात कर सकते हैं.

उत्तराखंड विधानसभा में शुक्रवार को बजट सत्र के दौरान कांग्रेस के नौ विधायकों ने हरीश रावत सरकार से बगावत कर दी थी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!