उप्र: भाजपा ‘नागिन’ बयान पर कायम

लखनऊ | एजेंसी: उत्तर प्रदेश भाजपा के अध्यक्ष लक्ष्मीकांत वाजपेयी के ‘नागिन’ वाले बयान पर सूबे का सियासी पारा गरमा गया हो गया है. इसके बावजूद भाजपा अभी भी इस बयान पर कायम है और उसने बयान पर आई विभिन्न दलों की प्रतिक्रिया को हताशा का परिणाम बताया है.

भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता मनोज मिश्र ने कहा कि भाजपा अध्यक्ष का कथन संविधान की भावना के अनुरूप है. भारतीय पुलिस सेवा सहित अन्य सभी अधिकारी संवैधानिक व्यवस्था के अनुरूप कार्य करने के प्रति शपथबद्ध होते हैं, लेकिन उत्तर प्रदेश के पुलिस अधिकारी सपा के ऐजेंट के रूप में काम कर रहे हैं.

मुरादाबाद के एसएसपी का बयान सपा के प्रवक्ता की तरह था, एसएसपी ने जिस तरह संवैधानिक व्यवस्था का उल्लंघन किया, यह अपराध है.

मिश्र ने कहा कि सपा सरकार से न्याय की उम्मीद नहीं की जा सकती, क्योंकि वह खुद ऐसे अधिकारियों को संरक्षण दे रही है, उनका बचाव कर रही है. ऐसे में विपक्षी दल के रूप में भाजपा की जिम्मेदारी है कि वह ऐसे अफसरों को चेतावनी दे. उन्होंने कहा कि भाजपा शांतिपूर्ण विरोध का दायित्व निभाती रहेगी.

प्रवक्ता ने नगर विकास मंत्री आजम खां के रविवार को दिए बयान को हास्यास्पद बताया और कहा कि भाजपा बदला लेने वाली नहीं, न्याय की राह पर चलने वाली पार्टी है.

उन्होंने कहा कि आखिर ऐसी क्या मजबूरी है कि आजम अपने विभाग को छोड़कर गृह मंत्रालय से जुड़े मामलों पर ही प्रतिक्रिया देते हैं. दरअसल वह अखिलेश को मुख्यमंत्री पद पर सहजता से स्वीकार नहीं कर पा रहे हैं. गृह मंत्रालय अखिलेश के पास है, प्रतिक्रिया आजम व्यक्त करते हैं.

मिश्र ने कहा कि आजम पहले समस्या बढ़ाते हैं, बाद में बयान देते हंै. ऐसा ही उन्होंने मुजफ्फरनगर दंगों के दौरान किया था.

भाजपा प्रवक्ता ने आरोप लगाया कि मुरादाबाद में धार्मिक स्थल से लाउडस्पीकर हटाने का कार्य आजम के करीबी विधायक की चिट्ठी पर हुआ था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *