UP: मायावती की सामाजिक इंजीनियरिंग

नई दिल्ली | समाचार डेस्क: यूपी चुनाव के पहले मायावती ने अपने सोशल इंजीनियरिंग के तहत टिकटों की घोषणा की है. उन्होंने संवाददाता सम्मेलन में बताया कि टिकट बंटवारे में यह देखा गया है कि कौन कितना बीएसपी के आंदोलन से जुड़ा रहा है. मायावती ने भाजपा तथा सपा पर जमकर भड़ास निकली. उन्होंने सपा पर घरेलू झगड़े में यादवों को बांट देने का आरोप लगाया है. मायावती ने आरोप लगाया है कि भाजपा भी कांग्रेस के तर्ज पर लोगों को गुमराह कर रही है. मायावती ने सभी 403 सीटों का जातिवार ब्यौरा पेश किया. 87 सीटों पर दलित, 97 सीटों पर मुस्लिम उम्मीदवार को टिकट दिया गया है.

मायावती ने बताया कि कुल 403 सीटें हैं जिनमें एससी को 87, मुस्लिम को 97, ओबीसी को 106 और अगड़ी जाति के 113 उम्मीदवार हैं. अगड़ी जातियों में 66 टिकट ब्राह्मणों को, 36 कायस्थ और 11 वैश्य और पंजाबी समाज के लोगों को दिए गए हैं. मायावती का कहना है कि


इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की लखनऊ में चुनावी रैली के एक दिन बाद बहुजन समाज पार्टी की प्रमुख मायावती ने मीडिया से बात करते हुए प्रधानमंत्री मोदी पर हमला करते हुए कहा कि भाजपा की गरीब विरोधी नीतियों का पर्दाफ़ाश हुआ है.

उन्होंने कहा कि नाकामी छुपाने के लिए प्रधानमंत्री मोदी और भाजपा ने नोटबंदी की. मायावती ने आरोप लगाया कि धन्ना सेठों को छोड़ देश के 90 फीसदी लोग परेशान हुए हैं. देश के इतिहास में नोटबंदी काला अध्याय है.

मायावती ने कहा कि प्रधानमंत्री के संबोधन से साफ़ है कि उम्मीदें पूरी नहीं होंगी. ग़रीब-मध्य वर्ग प्रधानमंत्री से उम्मीद लगाए बैठा था. ग़रीब सोच रहा था कि खाते में 15-20 लाख आएंगे. प्रधानमंत्री के संबोधन से लोगों को निराशा हाथ लगी. उन्होंने कहा कि कल लखनऊ में प्रधानमंत्री का भाषण भी ध्यान बंटाने वाला था. मायावती ने आरोप लगाया कि लखनऊ की रैली में भाड़े की भीड़ थी.

मायावती ने कहा कि भाजपा विपक्ष पर गलत आरोप लगा रही है, सपा-भाजपा की अंदरुनी मिलीभगत है. मायावती ने दावा किया कि सपा परिवार में वर्चस्व को लेकर घमासान मचा है, सपा में झगड़े से यादव वोट दो हिस्सों में बंट गया है.

उन्होंने कहा कि मुस्लिम समाज सपा को वोट देकर अपना वोट खराब न करे. मायावती ने कहा कि सपा परिवार में झगड़े पर प्रधानमंत्री भी नहीं बोले. सपा-बीजेपी की मिलीभगत चल रही है.

मायावती ने प्रधानमंत्री पर आरोप लगाते हुए कहा कि नोटबंदी की आड़ में भाजपा घिनौनी राजनीति कर रही. मायावती ने अपील की कि सपा के परिवारवाद से जनता निजात दिलाए. उन्होंने कहा कि बसपा को पूर्ण बहुमत से जनता सत्ता में लाएगी.

उन्होंने प्रधानमंत्री को घेरते हुए कहा कि गरीबों को मकान देने का वादा क्या हुआ, नोटबंदी के 50 दिन पूरे हो गए, जनता को राहत नहीं मिली. मायावती ने कहा कि भाजपा के प्रति जनता में आशंकाएं पैदा हो रही है.

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री को कालेधन, भ्रष्टाचार पर जवाब देना चाहिए. अबतक कितना कालाधन पकड़ा गया. जवाब दे सरकार.

मायावती ने कांग्रेस पर भी हमले किए. उन्होंने कहा कि कांग्रेस भी वर्षों तक जनता को गुमराह करती रही, कांग्रेस की तर्ज पर भाजपा भी गुमराह कर रही है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!