वेदांता का पावर प्लांट अवैध

रायपुर | संवाददाता: ब्रिटेन की अनिल अग्रवाल की वेदांता-स्टरलाइट कंपनी के बालको पावर प्लांट को कांग्रेस ने अवैध बताया है. कांग्रेस विधायक मोहम्मद अकबर ने दावा किया है कि बालको के पावर प्लांट का निर्माण अवैध है. भाजपा की रमन सिंह की सरकार विधानसभा में यह बात लिखित में स्वीकार चुकी है.

गौरतलब है कि विदेशी कंपनी वेदांता-स्टरलाइट के मालिक अनिल अग्रवाल ने हाल ही में छत्तीसगढ़ का दौरा करते हुये कई बालको में कई योजनाओं को शुरु करने की बात कही थी. अकबर का कहना है कि चुनाव के समय बालको के चेयरमैन अनिल अग्रवाल अवैध कामों को मंजूर करवाने आए हैं.

मोहम्मद अकबर का दावा है कि विधानसभा में 27 दिसबंर 2011 को उनके एक सवाल के लिखित जवाब में तत्कालीन नगरीय प्रशासन मंत्री राजेश मूणत ने स्वीकार किया था कि बालको पावर प्लांट के 10 निर्माण कार्य अवैध हैं, इनमें 1200 मेगावाट पावर प्लांट, चिमनी, रेलवे ट्रैक दोहरीकरण, रोड डायवर्सन, बेच मिक्स प्लांट, नवीन पुलिस थाना, बाउंड्रीवाल निर्माण कार्य, 540 मेगावाट पावर प्लांट, रिटंनिंगवाल निर्माण व समतलीकरण और पाईप लाईन के कार्य शामिल हैं.

अपने लिखित जवाब में विभागीय मंत्री ने बताया था कि बालको के 1200 मेगावाट पावर प्लांट का काम 80 फीसदी, रेलवे ट्रैक दोहरीकरण का काम 75 फीसदी, बाउंड्रीवाल निर्माण और पाईप लाईन बिछाने का काम 50 फीसदी पूरा हो चुका है. प्रबंधन ने 540 मेगावाट पावर प्लांट, नवीन पुलिस थाना और रोड डायवर्सन का निर्माण पूरा कर लिया है.

उक्त अवैध निर्माण कार्यों को रोकने बालको प्रबंधन को नगरीय प्रशासन की ओर से कई बार नोटिस दी गई. निर्माण कार्य बंद करवाकर पंचनामा भी करवाया गया, लेकिन इसके बाद भी बालको प्रबंधन ने अवैध निर्माण कार्य जारी रखा. चुनाव के वक्त बालको प्रबंधन पिछले दरवाजे से अपने अवैध कामों को वैध कराना चाहता है.

मोहम्मद अकबर ने कहा कि बालको प्रबंधन के प्रति रमन सिंह सरकार की वैसे भी विशेष कृपा दृष्टि रही है. इसके कुछ मामले न्यायालय में विचाराधीन हैं.

अकबर ने कहा कि रमन सिंह की सरकार ने बालको के अवैध निर्माण कार्यों को मंजूरी दी तो कांग्रेस चुप नहीं बैठेगी. बालको प्रबंधन और भाजपा सरकार के हर अवैध कामों का पुरजोर विरोध किया जाएगा. अकबर ने कहा कि अगर जरुरत हुई तो इसके लिये कांग्रेस पार्टी अदालत का भी दरवाजा खटखटाएगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *