अश्लील मंत्री विजय शाह का इस्तीफा

भोपाल | संवाददाता: मध्यप्रदेश के आदिम जाति कल्याण मंत्री मंत्री विजय शाह को अश्लीलता भारी पड़ गई. झाबुआ में सार्वजनिक मंच से लड़कियों के सामने द्विअर्थी और अश्लील भाषण देने वाले विजय शाह को मंत्री पद छोड़ना पड़ा है. भारतीय जनता पार्टी ने कल ही कड़ाई के संकेत दे दिये थे. इसके बाद बुधवार को विजय शाह ने इस्तीफा दे दिया.

झाबुआ में आयोजित छात्राओं के समर कैंप में पहुंचे विजय शाह ने सार्वजनिक मंच से कई बेतूकी बातें की थीं. विजय शाह ने सबसे पहले मंच पर मौजूद एक नाम की दो महिलाओं को लेकर टिप्पणी करते हुये कहा कि लगता है कि झाबुआ में एक के साथ एक फ्री मिलता है. फिर मंत्री जी लड़कियों की तरफ मुखातिब हुये. बात-बात में कह डाला- पहला-पहला मामला कोई नहीं भूलता. कोई भूलता है क्या ? लड़कियां शर्मा गईं और मुस्कुराने लगीं. फिर मंत्री जी ने बयान दिया-बच्चे भी बड़े समझदार हैं.


विजय शाह का इससे भी मन नहीं भरा. उन्होंने कहा- मैंने भाभीजी यानी सीएम की पत्नी को कहा हमारे साथ भी चला करो, भइया के साथ तो रोज जाती हो, कभी देवर के साथ भी चली जाया करो. हम एक स्कूल में गए. बच्चे ठिठुर रहे थे. मैंने भाभी से कहा- क्या बोलती हैं आप? उन्होंने कहा-स्वेटर दे दो. पूछा- भैया मान जाएंगे? भाभी बोलीं- वो मैं देख लूंगी.

विजय शाह की बदजुबानी की चर्चा चैनलों पर हुई तो सरकार सचेत हुयी. पार्टी में भी चर्चा हुई और मंत्री विजय शाह को मंत्री पद से इस्तीफा देने के लिये कह दिया गया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!