सिगरेट की राख से पानी शुद्धिकरण

लंदन | एजेंसी: पानी में मौजूद खतरनाक आर्सेनिक को हटाने में सिगरेट की राख मददगार हो सकती है. एक नए अध्ययन में यह बात सामने आई है. पानी से आर्सेनिक को दूर करने की तकनीक हालांकि पहले से मौजूद है और औद्योगिक इलाकों में इसका भारी पैमाने पर इस्तेमाल होता है, लेकिन महंगा होने के कारण ग्रामीण तथा विकासशील इलाकों में इसका इस्तेमाल संभव नहीं है.

सिगरेट की राख छिद्रदार होने के कारण वैज्ञानिकों ने इसका उपयोग प्रयोग के लिए उपयुक्त समझा.

एक साधारण और कम खर्चीली विधि के तहत शोधकर्ताओं ने अल्युमीनियम ऑक्साइड की लेप से सिगरेट की राख तैयार की.

प्रयोग के दौरान उन्होंने पाया कि राख ने दूषित पानी से लगभग 96 फीसदी आर्सेनिक को हटा दिया, जो विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा तय किए गए मानक स्तर से नीचे है.

मुख्य शोधकर्ता जियाजिंग ली ने कहा, “जहां सार्वजनिक जगहों पर धूम्रपान करने की स्वीकृति है, वहां से सिगरेट की राख को आसानी से इकट्ठा किया जा सकता है, जो गंभीर सार्वजनिक स्वास्थ्य मुद्दे का हल बन सकता है.”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *