पश्चिम बंगाल में तृणमूल का जादू बरकरार

कोलकाता | समाचार डेस्क: तृणमूल कांग्रेस का जादू अभी भी पश्चिम बंगाल में बरकार है जिसके कारण उसे उप चुनाव में सफलता मिलती दिख रही है. इससे पहले कयास लगाये जा रहें थे कि पश्चिम बंगाल में भाजपा ने अपनी जमीं मजबूत कर ली है तथा कृष्णानगर विधानसभा व बनगांव लोकसभा उप चुनावों में उसे जीत हासिल होगी. इन उप चुनावों में भाजपा दूसरे नंबर पर तथा माकपा तीसरे नंबर पर चल रहें हैं. पश्चिम बंगाल में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस ने कृष्णानगर विधानसभा सीट के लिए हुए उप चुनाव में जीत हासिल कर ली है, जबकि बनगांव लोकसभा सीट के लिए हुए उप चुनाव में भी वह बढ़त बनाए हुए है. दोनों सीटों पर 13 फरवरी को मतदान कराए गए थे, जिसकी मतगणना सोमावर को हो रही है. भाजपा दोनों ही सीटों पर दूसरे, माकपा तीसरे और कांग्रेस चौथे स्थान पर है.

बनगांव से तृणमूल उम्मीदवार ममताबाला ठाकुर 10 चरणों की मतगणना के बाद भारतीय जनता पार्टी के सुब्रत ठाकुर से करीब एक लाख वोट से आगे हैं. ममताबाला लोकसभा के अंतर्गत मौजूद सभी सात विधानसभा क्षेत्रों में आगे चल रही हैं.

मार्क्‍सवादी कम्युनिस्ट पार्टी के उम्मीदवार और पूर्व मंत्री देबेश दास तीसरे स्थान पर चल रहे हैं. 2014 लोकसभा चुनाव में वह इस सीट से दूसरे स्थान पर रहे थे. कांग्रेस उम्मीदवार कुंतल मंडल संभवत: अपनी जमानत राशि भी गंवा सकते हैं.

तृणमूल सांसद कपिल कृष्णा ठाकुर के निधन के बाद उप चुनाव आवश्यक हो गया था. ममताबाला उनकी पत्नी हैं और सुब्रत उनके भतीजे हैं.

इधर, नादिया जिला स्थित कृष्णागंज विधानसभा सीट पर तृणमूल के सत्यजीत बिस्वास भाजपा के उम्मीदवार मानबेंद्र रॉय से 37,000 वोट से जीत गए हैं.

पिछले लोकसभा चुनाव में इस विधानसभा क्षेत्र पर तृणमूल को जितने वोट मिले हैं, वह इस बार भी बरकरार हैं, जबकि भाजपा का वोट प्रतिशत लगभग दोगुना हो गया है.

माकपा के अपूर्व बिस्वास को पिछले साल के मुकाबले कम वोट मिले हैं.

कांग्रेस उम्मीदवार नित्यागोपाल मंडल जमानत राशि भी गंवा चुके हैं.

तृणमूल विधायक सुशील बिस्वास के निधन के बाद यह सीट रिक्त हो गई थी.

13 फरवरी को हुए चुनाव में 80 फीसदी से अधिक मतदाताओं ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *