सीरिया में रासायनिक हथियार का इस्तेमाल ?

संयुक्त राष्ट्र | एजेंसी: सीरिया की राजधानी दमिश्क के बाहरी इलाके में कथित रूप से रासायनिक हथियारों का उपयोग करने के कारण संयुक्त राष्ट्रसंघ के महासचिव बान की-मून हैरानी में पड़ गये हैं. बान की-मून ने कहा है कि किसी भी परिस्थिति में किसी भी तरफ से रासायनिक हथियारों का इस्तेमाल अंतर्राष्ट्रीय मानवतावादी कानून का उल्लंघन होगा.

विद्रोहियों के दावों के अनुसार इस हमलें में 1300 लोगों की मौत हो गई है. सीरिया में विपक्ष ने दावा किया है कि इनसे अब तक 1400 से 1450 लोग मारे गए हैं. अमेरिकी सरकार के मुताबिक सीरिया में राष्ट्रपति बशर अल असद की सेना ने इस साल सात बार रासायनिक हथियारों से विद्रोहियों के कब्जे वाले इलाकों में हमले किए हैं.


संयुक्त राष्ट्र की रिपोर्ट के अनुसार, मार्च 2011में शुरू हुए सीरियाई गृहयुद्ध में अब तक 1.20 लाख से ज्यादा लोग मारे गए हैं, जबकि 17 लाख से ज्यादा लोग बेघर हो चुके हैं.

जबकि सीरियाई सरकार का कहना है कि रासायनिक हथियारों का उपयोग नही किया गया है. यह अफवाह इसलिये फैलाई जा रही है ताकि संयुक्त राष्ट्रसंघ के मिशन को रोका जा सके. ज्ञात्वय रहें कि सीरिया सरकार तथा विद्रोहियों के बीच संघर्ष दिन पर दिन तीखा होता जा रहा है. अमरीका पर आरोप है कि वह सीरियाई विद्रोहियों को हथियार सप्लाई कर रहा है.

इसे सारी दुनिया जानती है कि अमरीका ने इससे पहले ईराक पर रासायनिक हथियार रखनें का आरोप लगाया था जो बाद में झूठा साबित हुआ था. लेकिन इस दरम्यान अमरीकी तेल कंपनियों ने ईराकी तेल के कुओं पर कब्जा कर लिया. चीन तथा रूस सीरियाई संकट पर अमरीकी रुख से सहमत नहीं हैं. अब देखना यह है कि क्या वाकई में सीरियाई सरकार ने रासायनिक हथियारों का उपयोग किया है ?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!